Morena Police ने पेश की मानवता की मिसाल, छत्तीसगढ़ से भटकी वृद्ध महिला के घर का लगाया पता

मुरैना पुलिस (Morena Police) ने मानवता की मिसाल (humanity example) पेश की है। जिन्होंने छत्तीसगढ़ से भटक कर मध्यप्रदेश के मुरैना (morena) पहुंची वृद्ध महिला के परिजनों का पता लगाया है। बता दें कि आरआई ने सोशल मीडिया (Social Media) और गूगल के जरिए वृद्ध महिला के घर का पता लगाया है।

एसपी

मुरैना, डेस्क रिपोर्ट। देश में बढ़ रहे अपराधों (crime) के चलते देश की जनता कई बार पुलिस को भी सवालों के कटघरे में खड़ा कर देती है, लेकिन वहीं मध्यप्रदेश की मुरैना पुलिस (Morena Police) का एक नया चेहरा सामने आया है। जहां पुलिस ने मानवता की मिसाल ( Example of humanity) पेश की है। मुरैना पुलिस (Morena Police) के आरआई डॉक्टर केपीएस तोमर ने छत्तीसगढ़ से भटकी एक महिला को उसके घर पहुंचाने की तैयारी कर ली है। बता दें कि एक वृद्ध महिला जिसकी उम्र करीब 65 वर्ष है, जिसका नाम द्वारका है, वो भटकते हुए छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव से मध्यप्रदेश के मुरैना जिले में पहुंच गई थी।

भटकते हुए पहुंची मुरैना

छत्तीसगढ़ से मध्यप्रदेश के मुरैना पहुंची वृद्ध महिला जिले की सड़कों पर भीख मांग कर अपना गुजारा कर रही थी, जिस पर कुछ समाजसेवियों की नजर पड़ी और उन्होंने वृद्ध महिला को एक वृद्धाश्रम में पहुंचाया। जब यह बात मीडिया के जरिए मुरैना पुलिस तक पहुंची, तो मुरैना पुलिस में पदस्थ आरआई केपीएस ने वृद्ध आश्रम में खुद जाकर वृद्ध महिला से बातचीत की। जहां आरआई को पता चला है कि वृद्ध महिला जून के महीने में अचानक रास्ता भटक कर मुरैना पहुंच गई है।

छत्तीसगढ़ी बोल रही थी वृद्ध महिला

जब आरआई तोमर ने वृद्ध महिला से बात की तो महिला छत्तीसगढ़ी में बोल रही थी, जिसकी भाषा मध्यप्रदेश में कम ही लोगों को समझ में आती है। जिसके कारण महिला को कोई नहीं समझ पाया। लेकिन आरआई ने वृद्ध महिला की बात सुनी और समझे भी। तब उन्हें पता चला कि वह महिला छत्तीसगढ़ के राजनंदगांव जिले के चिखली गांव की निवासी है। जिसके बाद आरआई तोमर ने राजनंदगांव के कुछ युवाओं से संपर्क किया और वृद्ध महिला के बारे में जानकारी जुटाने के लिए कहा।

Morena Police ने पेश की मानवता की मिसाल, छत्तीसगढ़ से भटकी वृद्ध महिला के घर का लगाया पता

सोशल मीडिया के जरिए मिली जानकारी

राजनंदगांव के युवाओं ने चिखली गांव के सोशल मीडिया ग्रुप के जरिए वृद्ध महिला का पता लगाया, जिसमें कुछ समय पहले ही महिला की गुमशुदगी को लेकर फोटो और डिटेल डाली गई थी। बता दें कि पुलिस के द्वारा राजनंदगांव जिले के चिखली गांव पंचायत के करीब 15 हजार से अधिक लोगों की वोटर लिस्ट निकाली गई, जिसके बाद वृद्ध महिला की बहू और बेटे की जानकारी मिल पाई।

मुरैना पुलिस की हो रही सराहना

मुरैना पुलिस के इस कार्य की लोग काफी सराहना कर रहे है। साथ ही एक भटकी हुई वृद्ध महिला की दुआएं भी मुरैना पुलिस को मिल रही है। दरअसल आरआई पुलिस ने सोशल मीडिया और अन्य तकनीक का सहारा लेते हुए वृद्ध महिला के घर का पता लगाया है, जो अपने आप में एक बड़ा कार्य है।

आरआई ने कहा- बुजुर्गों की करनी चाहिए मदद

इस दौरान आरआई केपीएस तोमर ने बताया कि आम लोगों को भी असहाय गरीब बुजुर्गों की मदद करनी चाहिए। साथ ही उनके प्रति हमेशा संवेदनाएं रखनी चाहिए। ऐसे ही अगर बुजुर्गों की मदद की जाए तो कोई भी बुजुर्ग या अन्य व्यक्ति बेघर नहीं होगा। आरआई ने कहा कि वृद्ध महिला के घर वालों को भी जानकारी दे दी गई है, जिसके बाद अब उसके बहू और बेटे वृद्ध महिला को लेने मुरैना आ रहे है। वहीं वृद्ध महिला घर जाने वाली बात सुनकर काफी खुश हुई, साथ ही आरआई को दुआएं दे रही है।