पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री की फिसली जुबान, गोडसे को जी सम्बोधित किया

भोपाल| मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने जब तालिबान सरगना ओसामा बिन लादेन को ओसामा जी कहकर संबोधित किया तो एक नया राजनीतिक बवंडर उठ खड़ा हुआ था| अब उन्ही के नक़्शे कदम पर चलते हुए प्रदेश के पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने महात्मा गाँधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को गोडसे जी कह कर संबोधित किया है| मंत्री जी को जब अपनी फिसली जुबान का अहसास हुआ तो फिर उन्होंने सुधर करते हुए गोडसे कहकर संबोधित किया| इस दौरान उन्होंने  बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर पर निशाना साधते हुए उन्हें को देशद्रोही बताया| 

इन दिनों बीजेपी और कांग्रेस में चल रही जुबानी जंग में भाषा की मर्यदाए तार तार हो रही है| ऐसे में सीहोर के आष्टा जनपद पंचायत परिसर में राष्ट्र पिता महात्मा गाँधी की प्रतिमा का अनावरण करने पहुंचे प्रदेश के पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल की जुबान उस समय फिसल गई जब वह बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर द्वारा गाँधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बतलाये जाने पर अपनी प्रतिक्रिया मीडिया के साथ साझा कर रहे थे| उन्होंने महात्मा गाँधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को गोडसे जी कह कर संबोधित किया| हलाकि जैसे ही उन्हें अपनी गलती का एहसास हुआ तो उन्होंने तुरंत उसमे सुधर करते हुए जब गोडसे कहकर संबोधित किया| 

इस दौरान पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री कमलेश्वर पटेल ने बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को लेकर कांग्रेस के ब्यावरा विधायक द्वारा की जिन्दा जलाने की धमकी पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उनके इस कृत्य को मौन समर्थन देते हुए इसे उनकी भावना से जोड़ दिया| यही नही उन्होंने एक बार विवादित बयान देते हुए बीजेपी की सांसद साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को देशद्रोही बताया|