पुलिस ने किया अंधे कत्ल का खुलासा, 3 आरोपी गिरफ्तार,  मोबाइल-पैसे को लेकर था विवाद

RSS-worker-murder-in-ratlam

सिंगरौली,राघवेन्द्र सिंह गहरवार। बीते 23 अगस्त को शहर के नवजीवन विहार के रहने वाले छात्र अभिषेक तिवारी का शव क्षत-विक्षत हालत में नवानगर थाना क्षेत्र के अंदर स्थित नाले से बरामद हुआ था। जिसपर विंध्य नगर पुलिस ने हत्या में शामिल तीनो छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि मोबाइल तथा नगदी को लेकर इनके बीच विवाद चल रहा था, जिसको लेकर आरोपियों ने मृतक छात्र पर पहले सिर पर बीयर की बोतल से वार किया तथा बेहोश होने के बाद मुख्य आरोपी ने गला काटकर उसकी हत्या कर दी।

मिली जानकारी के अनुसार बीते 23 अगस्त की शाम लापता छात्र अभिषेक तिवारी की अंधे कत्ल का खुलासा करते हुए विन्ध्य नगर पुलिस ने हत्या के आरोपी नाबालिग अजय,सुजय,अमन (परिवर्तित नाम) को गिरफ्तार कर विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर न्यायालय में पेश किया है।

सिंगरौली पुलिस अधीक्षक वीरेन्द्र सिंह के निर्देशन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप शेन्डे के मार्गदर्शन में विन्ध्यनगर टी आई राघवेन्द्र द्विवेदी के नेतृत्व में टीम गठित कर विन्ध्यनगर पुलिस द्वारा लगातार की गई सघन जांच पड़ताल खोजबीन में नवानगर थाना क्षेत्र स्थित नाले में छात्र अभिषेक तिवारी का क्षत-विक्षत शव पाया गया। जिसके बाद संदिग्धों से की गई पूछताछ के बाद हत्या का खुलासा हुआ।

उक्त संबंध में पुलिस ने बताया कि आरोपी और मृतक के बीच मोबाइल नगदी लेनदेन को लेकर झगड़ा था, जिसमे नंदगांव पहुंचकर बीयर पीते हुए विवाद शुरू कर दिया और सर पर बीयर की बोतल वार करते हुए आरोपी ने मृतक छात्र का गला काटकर उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद उसकी लाश को नाले में छुपाते हुए भाग निकले थे। मनकहरी के रहने वाले मृत छात्र और तीनों आरोपी स्थानीय डिपाल स्कूल में पढ़ते थे।

सीएसपी देवेश पाठक के सतत देखरेख में की गई इस कार्रवाई में सब इंस्पेक्टर जितेंद्र सिंह भदौरिया,महेंद्र सिंह,राममिलन तिवारी,एएसआई एन पी तिवारी,अशोक शर्मा, प्रधान आरक्षक अमित द्विवेदी,सुनील पाठक एवं आरक्षक अमजद खान,जगह द्विवेदी,आनंद पटेल, कृष्णा बहादुर,कमल,अभिमन्यु, अजय,राजू रावत एवं साइबर सेल से विजय खरे,सोबल वर्मा,दीपक शामिल थे।