अंधे कत्ल का खुलासा, साथी ही निकला आरोपी, ये थी वजह

ग्वालियर, अतुल सक्सेना

मंगलवार की रात हुई एक हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। आरोपी मृतक का परिचित और साथी ही निकला । दोनों ने किसी व्यापार के लिए बैंक से लोन लिया था जिसे चुकाने को लेकर दोनों में विवाद होता था जिसका अंत हत्या के रूप में सामने आया।

ग्वालियर के झांसी रोड थाना पुलिस को क्षेत्रीय लोगों ने सूचना दी थी कि साइंस कॉलेज के छात्रावास के पास मंगलवार की रात किसी ने एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी है। सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की टीम ने जब जांच पड़ताल की तो हत्या करने वाले कोई नजदीकी व्यक्ति समझ आया। घटना स्थल पर पड़े मोबाइल और शराब की बोतल से शक पक्का हो गया। उसके बाद परिजनों को सूचित किया गया। मृतक की पहचान शफीक अहमद निवासी गुब्बारा फाटक थाना कोतवाली के रूप में हुई। साक्ष्य जुटाने के बाद पुलिस ने तुरंत एक्शन लेते हुए 12 घंटे में ही आरोपी प्रमोद यादव को पकड़ लिया।

एसपी अमित सांघी ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रमोद यादव को पकड़ने के बाद जब पुलिस अधिकारियों ने कड़ाई से पूछताछ की तो उसने घटना करना स्वीकार कर लिया । प्रमोद ने पुलिस को बताया कि उसने और शफीक ने एक बैंक से 6 लाख रुपये का लोन लिया था। लेकिन शफीक उसपर दबाव बना रहा था कि लोन उसके नाम पर है इसलिए वो 3 लाख रुपये उसे दे। इस बात को लेकर दोनों में झगडा होता था। मंगलवार को भी हम शराब पी रहे थे तभी इसी बात पर विवाद हो गया तो उसने शफीक के जाते समय कट्टे से गोली मार दी और फरार हो गया। पुलिस ने आरोपी के पास से हत्या के प्रयुक्त 315 बोर का देसी कट्टा एक चला हुआ राउंड और एक जिंदा राउंड और एक्टिवा बरामद कर ली है।