रेत का धंधा बचाओ यात्रा निकाल रहे हैं डॉ. गोविंद सिंह एंड कंपनी- डॉ. रमेश दुबे

भिंड, गणेश भारद्वाज। लहार विधायक डॉ गोविंद सिंह ने अपनी विधानसभा के खेतों को सिंचित करने वाली सिंध नदी को रेत खनन के लिए अपने करीबी रेत माफियाओं को संरक्षण देकर खोखला करवा दिया है, ये बात सिंधिया समर्थित भाजपा नेता डॉ.रमेश दुबे ने अपने निज निवास पर आयोजित प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कही। आगे उन्होंने कहा कि जब प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने खनन माफियाओं पर नकेल कसी है तो पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह को अपने लोगों का रेत का धंधा बंद होता नजर आने लगा है।

धंधा बचाओं यात्रा के नाम पर निकल रही नदी बचाओं यात्रा

डॉ दुबे ने कहा इस कारण लहार विधायक रेत धंधा बचाओं यात्रा के नाम पर नदी बचाओं यात्रा निकाल रहे हैं। भाजपा नेता डॉ. दुबे ने कहा कि आगामी 5 सितंबर को भिंड जिले में निकाली जाने वाली यात्रा रेत का धंधा बचाने वाली यात्रा है। भिंड-दतिया के इतिहास में रेत माफियाओं के सबसे बड़े सरदार डॉक्टर गोविंद सिंह हैं। कंपनी कोई भी आए रेत का धंधा डॉक्टर गोविंद सिंह के ही लोग करेंगे।

कांग्रेस ने खास लोगों को पहुंचाया लाभ

आगे उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को भी रेत संरक्षक जाता है। ऐसा मध्य प्रदेश शासन के तत्कालीन वन मंत्री उमंग सिंगार ने प्रेस कांफ्रेंस के सामने बोलते हुए कई उदाहरण दिए थे, तो दुबे ने कहा कि भिंड में दिग्विजय सिंह की सबसे ख़ास डॉक्टर गोविंद सिंह के हितों पर चोट न पहुंचे इसको लेकर नदी बचाओ का शोर किया जा रहा है। मेरे पास ऐसे प्रमाण हैं जिससे स्पष्ट होता है कि कांग्रेस के शासन काल में किस तरह अपने खास लोगों को गलत तरीके से लाभ पहुंचाया गया। इसका एक उदाहरण टाटा हिटेची क्रमांक 52 00-5341 1 मैसर्स स्टीम इंफ्राबिल्ड का है, जो साल 2017 में 22 मई को 34 लाख 50हज़ार के जुर्माने के साथ पकड़ी गई और 13 फरवरी 20 को कांग्रेस शासन में ढेड़ लाख रुपये जुर्माने में छोड़ी गई।

जवाब दें डॉक्टर गोविंद सिंह जी कि यह हिटेची मशीन किसकी है ?

डॉ.दुबे ने स्पष्ट किया कि यह हिटेची रमाशंकर अध्यक्ष ठा. मथुरा सिंह कृषि उत्पादन सहकारी समिति लहार जिला भिंड की है, जो डॉक्टर गोविंद सिंह के बहुत बड़े कर्ताधर्ता हैं। गोविंद सिंह जी स्पष्ट करें कि लवकुश गुर्जर पुत्र बाबू सिंह बड़ेतर, रिंकू गुर्जर पुत्र हरनाम सिंह मटियावली, सुनील सिंह मढ़ैयन,शिशपाल गुर्जर मटियावली, अभिलाख सिंह पुत्र सरनाम सिंह, शिव कुमार सिंह पुत्र वीरेंद्र सिंह चाची पुरा, मुन्ना तेजा अजनार, मोनू तोमर पुत्र सुरजीत तोमर, कोक सिंह पुत्र सुजान सिंह लाहरा सरपंच सहित मटियाली, अजनार गुरीरा, बड़ेतर, धौर,पर्राइंच,मडोरी,रोहानी सहित पूरे इलाके में रेत के ठेकेदारों का संरक्षण दाता कौन है?  मैं पिछले कई वर्षों से अवैध उत्खनन के खिलाफ आवाज उठाता आया हूं और आज भी उठा रहा हूं पर डॉक्टर गोविंद सिंह जो प्रत्यक्ष अप्रत्यक्ष रूप से स्वयं इस धंधे में लिप्त हैं,यह शोभा नहीं देता।

कल लहार स्टेडियम से शुरू होगी पूर्व मंत्री गोविंद सिंह की नदी बचाओ पदयात्रा

कांग्रेस शासन काल के पूर्व मंत्री कांग्रेस के कद्दावर नेता डॉक्टर गोविंद सिंह की नदी बचाओ पदयात्रा कल सुबह लहार के स्टेडियम से प्रारंभ होकर सिंध नदी के किनारे किनारे पहले और दूसरे दिन आयोजित की जाएगी। इसके बाद यह यात्रा भिंड और चंबल नदी तक पहुंचेगी और 11सितंबर को दतिया जिले में इस यात्रा का प्रथम चरण का समापन किया जाएगा। गोविंद सिंह समर्थक कांग्रेस नेताओं ने इस यात्रा को सफल बनाने के लिए तैयारियां प्रारंभ कर दी है। यात्रा के दौरान जिले के कई स्थानों पर यात्रा में शामिल कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समाजसेवियों का स्वागत किया जाएगा। यह जानकारी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता वीरेंद्र सिंह भदौरिया ने दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here