किसान विरोधी बिल को लेकर भारत बंद का सुरक्षा संस्थान के कर्मचारियों ने किया समर्थन

जबलपुर, संदीप कुमार। किसान विरोधी बिल की आग आज पूरे देश मे लगी हुई है। देश की राजधानी दिल्ली में जहाँ बीते कई दिनों से किसान जमा होकर आंदोलन कर रहे है तो वही किसानों ने आज देश व्यापी बन्द का आव्हान किया है, जिसमे केंद्रीय सुरक्षा संस्थान के कर्मचारी भी शामिल होकर किसान बिल का विरोध किया।

जबलपुर की चारो सुरक्षा संस्थान में कार्यरत कर्मचारीयो में लंच का किया विरोध

भले ही सुरक्षा संस्थान में कार्यरत कर्मचारी किसान आंदोलन में शामिल न हो रहे हो पर उन्होंने किसान बिल का भरपूर विरोध किया है,कर्मचारियों का मानना है कि केंद्र सरकार का ये बिल श्रम और किसान विरोधी है, जिसका की पुरजोर विरोध किया जाएगा। किसान बिल के विरोध में जबलपुर को ओएफके-जीसीएफ-व्हीएफजे और जीआईएफ फैक्ट्री में कार्यरत कर्मचारियों ने अपने भोजनकाल समय का बहिष्कार किया और फैक्ट्री के बाहर धरना दिया।

आंदोलन में AIDEF और INDWF  संघ हुआ शामिल-BPMS ने बनाई दूरी

रक्षा मंत्रालय से जुड़े देश के तीन बड़े संगठन में दो संघ आल इंडिया डिफेंस एम्प्लाइज फेडरेशन और इंडिया नेशनल डिफेंस वर्क्स फेडरेशन जहाँ किसान विरोधी बिल के खिलाफ सड़को पर उतरकर विरोध किया, तो वहीं केंद्र सरकार के खिलाफ जमकर हल्ला बोला। राष्ट्रीय कर्मचारी नेता अरुण दुबे का कहना था कि सुरक्षा संस्थान के कर्मचारी भी केंद्र सरकार से पीड़ित है । सरकार भी सुरक्षा संस्थानों को निजीकरण करने की फिराक में है, इसके साथ ही अब किसान बिल लाकर किसानों को भी सरकार के द्वारा सताया जा रहा है।

भारतीय प्रतिरक्षा मजदूर संघ ने बनाई  दूरी

श्रम और किसान विरोधी बिल को लेकर All India Defence Employees Federation (AIDEF)  और Indian National Defence work Federation (INDWF) ने अपना सहयोग दिया तो वही Bhaartiy Pratirkcha Majdoor Sangh (BPMS) ने किसान विरोधी बिल आंदोलन से पूरी तरह से दूरी बनाकर रखी।

कर्मचारियों ने नही किया भोजन-रखा उपवास

देश भर की 41 केंद्रीय सुरक्षा संस्थान में शामिल ofk-gcf-vfj और gif  के कर्मचारियों ने आज भोजनकाल के समय भोजन नही किया और फैक्टरी के बाहर बैठ कर लंच समय मे धरना दिया।