गुस्साए ग्रामीणों ने पुलिस पर किया पथराव, टीआई का सिर फूटा, कई घायल

होशंगाबाद । प्रदेश भर में चर्चा का विषय बने होशंगाबाद जिले के पिपरिया के नया गांव के महुआ के पेड़ को लेकर आज ग्रामीणों और पुलिस में विवाद हो गया। बात इतनी बढ़ी कि पथराव शुरू हो गया इसमें दो दर्जन लोग घायल हो गए, पथराव में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए। जमकर हुए पथराव में बनखेड़ी टीआई शंकर लाल झरिया भी घायल हो गए , एक पत्थर उनके भी सिर में जा लगा।

विवाद बढ़ने के बाद  घटनास्थल पर तीन थानों की पुलिस को बुलाया गया है। इसके बाद स्टेशन रोड टी.आई सतीश अंधवान की सूझबूझ से लोगों को शांत करवाया गया और एक बड़ी घटना होने से टल गई। हालांकि स्थिति अभी भी तनावपूर्व बनी हुई है। वही विवाद करने वाले दो पुलसकर्मियों को महुआ स्थल से निकाल दिया गया है। वही मौके पर होशंगाबाद से फोर्स भेजी गई है। 

बता दे कि 2 दिन पहले ही प्रशासन ने उक्त महुआ स्थल बन्द कर दिया था । लेकिन सोशल मीडिया से लगातार फैल रही अफवाहों के चलते फिर आज बुधवार होने के कारण हजारों लोग वहां जा पहुंचे| पहले तो पुलिसकर्मियों ने लोगों को समझाने की कोशिश की। लोग नहीं माने तो थोड़ा बल प्रयोग किया। इसके बाद ग्रामीण भड़क गए और पुलिस पर पथराव कर दिया। आधा दर्जन पुलिस वाले घायल होने के साथ ही बनखेड़ी टीआई शंकर लाल झरिया के सिर में भी पत्थर लगा है। 

हजारों की संख्या में उमड़ रही भीड़ 

करीब एक महीने से यहां जंगल में करीब 25 साल पुराने महुआ के पेड़ को लेकर अफवाह फैली हुई है। कहा जा रहा है कि इस महुआ के पेड़ को पांच रविवार या बुधवार को छुने से किसी भी असाध्य बीमारी से छुटकारा मिल जाता है। इसी अंधविश्वास के चलते आज बुधवार को जंगल में पेड़ को छुने जाने के लिए हजारों लोग पहुंचने लगे। पहले तो पुलिसकर्मियों ने लोगों को समझाने की कोशिश की। लोग नहीं माने तो थोड़ा बल प्रयोग किया। इसके बाद ग्रामीण भड़क गए और पुलिस पर पथराव कर दिया। आधा दर्जन पुलिस वाले घायल होने के साथ ही बनखेड़ी टीआई शंकर लाल झरिया के सिर में भी पत्थर लगा है।