रास्ता भटकी PoK की दो बहनों की आज हुई घर वापसी, सेना ने तोहफे देकर किया रवाना

दो बहने गलती से PoK से भारतीय सरहद (Indian border) पर पहुंच गई थी, जिन्हें भारतीय सेना (Indian Army) ने पूछताछ के बाद खाना खिलाया। फिर आज उन्हें ढेर सारे तोहफे के साथ सुरक्षित घर वापस भेजा है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। गलती से सरहद पार कर अगर कोई भारतीय पाकिस्तान (Pakistan) पहुंच जाता है, तो वहां की सेना भारतीयों के साथ जुल्म करती है और जेलों में बंद कर देती है, जिस पर कई फिल्में भी बन चुकी है। हालांकि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (Pakistan Occupied Kashmir) निवासी दो सगी बहनों की किस्मत अच्छी थी कि वह गलती से भारत की सरहद पर पहुंच गई थी। जिनपर भारतीय सेना (Indian Army) की नजर पड़ी और उनके साथ पूछताछ के बाद उन्हें खाना खिलाया। आज भारतीय सेना ने दोनों बहनों की सुरक्षित घर वापसी की है।

भारतीय सेना ने खिलाया खाना

PoK (Pakistan Occupied Kashmir) से सीमा पार कर कश्मीर में दाखिल हुई बहनों को भारतीय सेना ने लाइन ऑफ कंट्रोल (LOC) पर रविवार यानि 6 दिसंबर को पकड़ा था। जिसमें एक लड़की की पहचान 17 साल की लायबा जबैर (laiba jabair) और दूसरी की 13 साल की सना जबैर (sana jabair) के रूप में हुई। वहीं घर वापसी के पहले दोनों बहनों का एक वीडियो जारी हुआ है, जिसमें बड़ी बहन लायबा ने बताया कि वे दोनों बहने गलती से सीमा पार कर कश्मीर की सरहद पर पहुंच गई, जहां वे दोनों काफी डरे हुए थे। दोनों को लगा कि सरहद पर तैनात सेना के जवान उन्हें मारेंगे, लेकिन उन्होंने ऐसा कुछ नहीं किया। सेना के जवान ने उनके साथ पूछताछ कर उन्हें खाना खिलाया और आज उन्हें वापस घर भेज रहे है।

LOC पर तैनात सैनिकों ने देखा

रविवार को पुंछ सेक्टर पर LOC में तैनात भारतीय सैनिकों ने दो लड़कियों को सरहद पर देखा, जहां सभी हैरान हो गए। पहले तो सैनिकों ने दोनों लड़कियों को अपने कब्जे में लिया और फिर पूछताछ की। जिससे पता चला कि वह दोनों सगी बहनें और गलती से सरहद पार कर गई है।

गलती से पहुंची थी भारतीय सीमा पर

भारतीय सैनिकों ने जब दोनों बहनों से पूछताछ की तो उन्होंने कहा कि वह घूम रही थी और गलती से वे दोनों (LOC) पर पहुंच गई। उन्हें LOC के बारे में कोई जानकारी नहीं थी, उन्होंने कहा कि दोनों POK के कहुटा तहसील के अब्बासपुर गांव की निवासी है। इस मामले में सेना के PRO ने कहा कि दोनों बहनें गलती से भारतीय सरहद पर आ गई थी। जिन्हें आज कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद उन्हें ढेर सारे तोहफे देकर सुरक्षित घर के लिए रवाना किया गया है।

गलती से सरहद पहुंच जाते है आम नागरिक

ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि, जब भारत-पाकिस्तान सरहद पर आम जनता गलती से एक-दूसरे की सीमा पर पहुंचे हो। ऐसा कई बार हो चुका है। जिस पर कई फिल्में भी बन चुकी है। ऐसा होने पर सामान्यतः दोनों देशों की सेना आपस में बात कर सहमति प्रकट करते हुए एक-दूसरे देशों के लोगों को वापस भेज देती है। बता दें कि कुछ समय पहले कि भारत ने 25 पाकिस्तानी मछुआरों को वापस उनके घर भेजा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here