रेत माफियाओं से महिला जनपद अध्यक्ष को जान का खतरा, SDM से मांगी सुरक्षा

डबरा।

भले ही एमपी में सत्ता परिवर्तित हो गई हो,बावजूद इसके रेत माफियाओं का आतंक कम होने का नाम नही ले रहा है। रेत माफियाओं का खौफ इस कदर जनप्रतिनिधियों पर हावी हो रहा है कि वे सुरक्षा की मांग कर रहे है।इस क्रम में भितरवार जनपद अध्यक्ष अनीता रावत ने एसडीएम को आवेदन देकर सुरक्षा की मांग की है।एसडीएम को दिए आवेदन को लेकर रावत ने कहा है कि मैने कई बार रेत माफियाओं के खदानों में कई बार दबिश देकर उनके खिलाफ कार्रवाई करवाई है। रेत का अवैध परिवहन करने वालों के वाहनों को भी कइ बार जब्त करवाया है, इसलिए मुझे डर है कि वे मुझ पर हमला भी कर सकते हैं। मेरी जान को खतरा है इसलिए मैंने सुरक्षा के लिए आवेदन दिया है। उन्होंने य​ह भी कहा है कि भितरवार अनुविभाग में अब भी अवैध रेत उत्खनन जारी है।

दरअसल, जनपद पंचायत अध्यक्ष को पिछले कई दिनों से लुहारी रेत खदान से रेत का अवैध उत्खनन एवं परिवहन करने की सूचनाएं प्राप्त हो रही थीं। जिसके चलते उनके द्वारा पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को कार्रवाई के लिए सूचना दी गई। लेकिन किसी के भी द्वारा अवैध उत्खनन पर कार्रवाई नहीं की गई।  इसके बाद शनिवार-रविवार की रात को जनपद पंचायत अध्यक्ष अनीता रावत ने ही ग्राम करियावटी के पास से तीन डंपर एवं एक ट्रैक्टर-ट्रॉली को रेत का अवैध परिवहन करते हुए पकड़ा और कार्रवाई के लिए भितरवार पुलिस के सुपुर्द कर दिया।

यह पहला मौका नही है ,इसके पहले भी रेत के अवैध कारोबार के खिलाफ जनपद पंचायत अध्यक्ष लगभग 6 माह पूर्व एसडीएम, तहसीलदार, एसडीओपी और थाना प्रभारी को लिखित आवेदन देकर बता चुकी हैं । इतना ही नही रावत कई बार प्रशासन को अवैध खनन पर रोक ना लगाने के चलते आदोलन की खुली चेतावनी भी दे चुकी है। वही कई डंपर और ट्रैक्टर ट्राली पकड़वा चुकी है, लेकिन अब उन्हें जान का खतरा सताने लगा है।इसलिए उन्होंने एसडीएम को आवेदन सौंपा है और सुरक्षा की मांग है।