पहलवान Sangeeta Phogat और पद्मश्री Bajrang Punia हुए एक, आठ फेरों के साथ की दांपत्य जीवन की शुरुआत

द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर फौगाट की तीसरे नंबर की बेटी संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) और अंतरराष्ट्रीय पहलवान बजरंग पूनिया ( Bajrang Punia) बुधवार को एक साथ शादी के पवित्र बंधन में बंध गए हैं। जिन्होंने शादी में सात फेरों की बजाए आठ फेरे लिए है।

हरियाणा, डेस्क रिपोर्ट। शास्त्रों से लेकर अब तक हमने शादी के बंधन में बनने के लिए सात वचनों के साथ सात फेरे लेना पढ़ा, सुना और देखा है। वहीं अगर अपनी शादी में जोड़ा कुछ अलग करके तो वो चर्चा का विषय बन जाता है। ऐसा की कुछ दंगल गर्ल गीता और बबीता फौगाट (babita phogat) की छोटी बहन पहलवान संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) ने अपनी शादी में किया है। संगीता फौगाट और पद्मश्री बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) शादी के पवित्र बंधन में बंध चुके है। जिसके लिए उन्होंने सात फेरों और सात वचनों की जगह आठ फेरे और आठ वचन लिए हैं।

जानें क्या रहा आठवां फेरा

द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर फौगाट (Dronacharya Awardee Mahabir Faugat) की बेटी संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) और अंतरराष्ट्रीय पहलवान बजरंग पूनिया (International wrestler Bajrang Punia) बुधवार को एक साथ शादी के पवित्र बंधन में बंध गए हैं। दोनों ने सात फेरों की जगह 8 फेरे लेकर एक दूसरे को अपना जीवनसाथी बनाया है। क्या आप जानना चाहेंगे कि संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) ने आठवां फेरा किस नाम का लिया है। जी हां हम आपको बताते हैं कि संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) ने आठवां फेरा ‘बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ’ के नाम का लिया है। बता दें कि संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) की बड़ी बहने दंगल गर्ल गीता और बबीता ने भी अपनी शादी में सात फेरों की जगह 8 फेरे लिए थे, परिवार की इसी परंपरा को आगे बढ़ाते हुए संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) ने भी अपनी शादी में 8 फेरे लिए है।

कोरोना गाइडलाइन का किया गया पालन

26 नवंबर को पहलवान संगीता फौगाट (Sangeeta Phogat) और पहलवान बजरंग पूनिया (Bajrang Punia) की शादी कोरोनाकाल में हुई है। जिसे ध्यान में रखते हुए सरकार की गाइडलाइन का विशेष रूप से पालन किया गया है। जहां शादी में सीमित मेहमानों की संख्या रखी गई थी, वहीं सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क पहनना और हैंड सैनिटाइज करने की भी विशेष व्यवस्था की गई थी।

बारातियों की संख्या रही सीमित

बजरंग पुनिया (Bajrang Punia) गांव खुड्डन के मूल निवासी है। जो हाल में सोनीपत में रहते है। कोरोनाकाल में हो रही शादी को देखते हुए पहलवान बजरंग पूनिया ने बारातियों की संख्या 31 रखी थी। इन्हीं 31 बरातियों के साथ बजरंग पुनिया पहलवान संगीता फौगाट के घर पहुंचे और परिणय सूत्र में बंधकर एक-दूसरे को जीवनसाथी बनाया।

वहीं कोरोनाकाल में शादी में आए लोगों की बात की जाए तो, पूरी शादी कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए किया गया। जिसमें दुल्हा और दुल्हन की तरफ से केवल 50 से 60 मेहमान ही शामिल हुए थे। अपनी बेटी की शादी को लेकर द्रोणाचार्य अवार्डी महाबीर फौगाट ने बेटी विदाई के पीड़ा को बयां करते हुए कहा कि यही संसार का नियम है। एक दिन बेटियों को विदा करना ही पड़ता है। इस दौरान उन्होंने कहा कि पद्मश्री से सम्मानित बजरंग पूनिया एक अच्छा इंसान है, जिनके साथ मेरी बेटी खुश रहेंगी।

MP Breaking News MP Breaking News

MP Breaking News MP Breaking News

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here