सावन में बने एक साथ 2 बड़े राजयोग, 4 राशियों पर जमकर बरसेगी कृपा-धन, पदोन्नति-नौकरी और सफलता के प्रबल योग

rajyog

Surya Shukra Yuti/Rajbhang/Budhaditya rajyog : ज्योतिष शास्त्र में कुछ विशेष ग्रहों के बीच युति राजयोग का निर्माण करती है,जब दो लाभकारी ग्रह कुंडली के केंद्र भाव और त्रिकोण भाव में होते हैं, तो शुभ राजयोग का निर्माण करते हैं। इसी कड़ी में प्रेम, सुंदरता भौतिक सुख-सुविधाओं और आकर्षण के कारक शुक्र देव सात अगस्त को कर्क राशि में प्रवेश कर गए है।  शुक्र और सूर्य के एकसाथ आने से राजभंग योग का निर्माण हो गया है।वही सूर्य और बुध की युति से बुधादित्य राजयोग का निर्माण भी हो रहा है।

जानिए राशियों पर प्रभाव

मेष राशि :  दोनों राजयोग से कार्य क्षेत्र में सफलता प्राप्त होगी। निवेश और खरीदारी कर सकते हैं। अचानक अप्रत्याशित लाभ का अवसर मिल सकता है।सूर्य और शुक्र की युति से जातकों को हर क्षेत्र में सफलता मिल सकती है।  सभी भौतिक सुखों की प्राप्ति हो सकती है। पुराने निवेश से अच्छा लाभ मिलेगा और आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। नौकरी पेशा जातकों को करियर में तरक्की है।तीर्थ यात्रा पर जाने की योजना बनाएंगे। पुराने निवेश से अच्छा लाभ मिलेगा और आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। नौकरी पेशा जातकों को करियर में तरक्की के अच्छे अवसर प्राप्त होंगे ।पुराने रोगों से मुक्ति मिलेगी ।कोई वाहन या भूमि खरीदना चाहते हैं तो यह अवधि आपके लिए अनुकूल रहेगी।

कर्क राशि : कर्क राशि वालों के लिए सूर्य व शुक्र की युति से बना राजभंग योग शुभ फलदायी रहेगा।  राजभंग राजयोग से नौकरी कर रहे लोगों को पदोन्नति या वेतन वृद्धि मिल सकती है।।विवाहित व्यक्तियों के लिए अपने सहयोगियों के साथ यात्रा की योजना बन सकती है। वित्तीय लाभ मिलने के पूरे आसार है। इसके साथ ही हर क्षेत्र में सफलता मिल सकती है। परिवार के साथ अच्छा समय बीतेगा।किसी वरिष्ठ व्यक्ति की मदद से आपका अटका हुआ धन प्राप्त होगा। राजभंग योग के प्रभाव से पर्सनल और प्रोफेशनल लाइफ में चल रही समस्याओं से मुक्ति मिलेगी। नौकरीपेशा को अच्छी जगह से नौकरी का प्रस्ताव भी मिल सकता है। विदेश जाने की इच्छा रखने वाले जातकों को इस अवधि में मौका मिलेगा।

सिंह राशि : राजभंग योग मेष राशि वालों को हर क्षेत्र में लाभ पहुंचाएगी। जीवन में भौतिक सुखों में वृद्धि होगी। पुराने निवेश से अच्छा रिटर्न मिलेगा। आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। करियर में आगे बढ़ने के अच्छे अवसर मिलेंगे। स्वास्थ्य अच्छा रहेगा।बुधादित्य राजयोग का निर्माण सिंह राशि के जातकों के लिए अनुकूल साबित होने वाला है। इस दौरान सिंह राशि के जातकों का आत्मविश्वास बढ़ेगा। करियर और व्यापार में तरक्की मिलेगी। इस दौरान पार्टनरशिप लाभकारी होगी.

तुला राशि : तुला राशि के जातकों के लिए अगस्त के माह में बन रहा राज भंग राजयोग शुभ साबित होने वाला है. तुला राशि के जातकों को शिक्षा और करियर में सफलता प्राप्त होगी. नौकरीपेशा लोगों को पदोन्नति या फिर नई नौकरी प्राप्त हो सकती है। व्यवसाय में वित्तीय लाभ और नए अवसर मिलेंगे, विद्यार्थी वर्ग प्रतियोगी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करेंगे। काम- कारोबार में ग्रोथ मिलने के आसार हैं। जो नौकरीपेशा लोग हैं, उनकी इस समय पदोन्नति हो सकती है। जो लोग कारोबारी हैं, उनको इस समय व्यापार में अच्छा लाभ हो सकता है। नौकरीपेशा जातकों के लिए पदोन्नति के योग बन रहे हैं।करियर में बड़ी सफलता मिल सकती है। अचानक मिला पैसा आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर करेगा।व्‍यापार अच्‍छा चलेगा।कोई बड़ी मनोकामना पूरी हो सकती है।

कुंडली में कब बनता है राजभंग योग

  1. जब सूर्य तुला राशि में दस से कम अंशों का होता है, ,जब लग्न से छठे भाव में सूर्य तथा चंद्रमा हो एवं उनपर शनि की दृष्टि हो,जब शनि लग्न में या केंद्र में हो उसे कोई भी शुभ ग्रह न देखता हो और जब चंद्रमा तथा मंगल मेष राशि में स्थित हो और उनपर शनि की दृष्टि हो और उसे कोई अन्य शुभ ग्रह न देखता हो, तो राजभंग योग बनता है।
  2. केंद्र में चंद्रमा शनि तथा सुर्य हो तो राजभंग योग बनता है।जब शनि केंद्र में हो और चंद्रमा लग्न में हो तथा गुरू बारहवें भाव में स्थित होता है, तो राजभंग योग बनता है।
  3. जब गुरू, राहु या केतु के साथ हो तथा उस पर शनि, मंगल या सूर्य में से किन्ही दो ग्रहों की दृष्टि होती है, तो राजभंग योग बनता है।
  4. गुरू, राहु या केतु के साथ हो तथा उस पर शनि, मंगल या सूर्य में से किन्ही दो ग्रहों की दृष्टि होती है, तो राजभंग योग बन जाता है।
  5. कोई भी दो पापग्रह दशम भाव में स्थित होते है और दशमेश पर शुभग्रहों की दृष्टि न हो, तो राजयोग भंग हो जाता है।

(Disclaimer : यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है, MP BREAKING NEWS किसी भी तरह की मान्यता-जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल लाने से पहले अपने ज्योतिषाचार्य या पंडित से संपर्क करें)

 


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News