जुलाई में एक साथ 4 बड़े ग्रह बदलेंगे चाल, बुधादित्य-लक्ष्मी नारायण समेत बनेंगे कई बड़े राजयोग, इन राशियों की चमकेगी किस्मत, नौकरी-सफलता-धनलाभ के योग

Pooja Khodani
Published on -
grah gochar 2023

Grah Gochar / Rajyog : वैदिक ज्योतिष के अनुसार प्रत्येक ग्रह का अपना एक विशेष महत्व होता है, हर ग्रह एक निश्चित समय अंतराल से एक राशि से निकलकर दूसरी राशि में प्रवेश करता है, जिसकी वजह से ग्रहों की युति और राजयोग का भी निर्माण भी होता है। जून की तरह जुलाई में भी ग्रहों का महागोचर होने वाला है। जुलाई में सूर्य मंगल, शुक्र और बुध एक बार फिर गोचर करने वाले है, जिसका सभी राशियों पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव देखने को मिलेगा।

जानिए कब कौन सा ग्रह करेगा गोचर

  1. मंगल गोचर : पराक्रम, भूमि-संपत्ति और विवाह के कारक मंगल 1 जुलाई शनिवार को 02:37  पर सिंह राशि में गोचर करेंगे और 1 जुलाई से 18 अगस्त तक रहेंगे। 18 अगस्त को शाम 04:12 बजे मंगल ग्रह सिंह से निकलकर कुंभ राशि में गोचर करेंगे।  मंगल ग्रह के राशि परिवर्तन से नीचभंग राजयोग का निर्माण होगा।नीच भंग राजयोग का जातकों के जीवन में शुभ प्रभाव पड़ता है।  किसी कुंडली में एक उच्च के ग्रह के साथ एक नीच ग्रह होने पर कुंडली में नीच भंग राजयोग का निर्माण होता है। इसके साथ ही यदि कोई ग्रह अपनी नीच राशि में बैठा और उस राशि का स्वामी लग्न या चंद्रमा से केंद्र स्थान में हो, तभी कुंडली में नीच भंग राजयोग का निर्माण होगा।
  2. बुध गोचर : 8 जुलाई रात 12.05 बजे  चंद्रमा के स्वामित्व वाली कर्क राशि में प्रवेश कर जाएंगे। यहां सूर्यदेव पहले से ही विराजमान होंगे, ऐसे में बुध और सूर्य की युति से बुधादित्य योग का निर्माण होगा जो जातकों के जीवन में अनुकूल परिणाम प्रदान करने वाला होगा। जब कुंडली में सूर्य और बुध जब एकसाथ आते हैं तो बुधादित्य योग का निर्माण होता है।इस दौरान सूर्य और बुध की युति से विपरित राजयोग का भी निर्माण होगा।वही 1 4 जुलाई को बुध के उदय से भद्र राजयोग का निर्माण होगा।बुध का सिंह राशि में गोचर 25 जुलाई 2023 की सुबह 4 बजकर 26 मिनट पर होगा।
  3. शुक्र गोचर :  पंचांग के अनुसार, शुक्र 7 जुलाई को सूर्य की राशि सिंह राशि में प्रवेश करेंगे और फिर शुक्र कर्क राशि में वक्री 23 जुलाई 2023 को सुबह 6 बजकर 01 मिनट पर हो जाएंगे।वर्तमान में शुक्र चंद्रमा की राशि कर्क में विराजमान है। इस दौरान जुलाई में बुध और शुक्र साथ आकर लक्ष्मी नारायण योग बनाएंगे।
  4. सूर्य गोचर : ग्रहो के राजा 16 जुलाई को कर्क राशि में राशि परिवर्तन करेंगे और इस गोचर के कारण प्रतिष्ठा और करियर के मामलों में फायदा होगा। सूर्य के गोचर से पिता-पुत्र संबंधों में प्रगाढ़ता आएगी। चंद्रमा की राशि कर्क में आने पर सूर्य सभी राशियों के पारिवारिक संबंधों पर प्रभाव डालते हैं। मेष, वृषभ और तुला राशि के लोगों को फायदा होगा।

किस राशि पर कैसा रहेगा असर

तुला राशि : शुक्र ग्रह का राशि परिवर्तन बहुत शुभ रहने वाला है। आय में वृद्धि के साथ आय के नए-नए माध्यम बनेंगे। नया काम करने के लिए समय अनुकुल है।यह राजयोग बेहद ही फलदायी साबित होने वाला है।नौकरी के नए और अच्छे अवसर प्राप्त होंगे। इस अवधि में धनलाभ के योग बन रहे हैं। धनलाभ और व्यापार में तरक्की की संभावना है। नए लोगों से मुलाकात हो सकती है। व्यापारी वर्ग को भी इस युति जबरदस्त फायदा होगा। शेयर बाजार, सट्टा और लॉटरी में धन का निवेश कर रहे लोगों को लाभ होगा। मंगल के गोचर से धन लाभ,शिक्षा के क्षेत्र में सफलता और निवेश में लाभ मिलेगा।

मेष राशि : मंगल का गोचर मेष राशि वालों के लिए काफी लाभकारी साबित होने वाला है। जीवन में बड़ा बदलाव देखने को मिल सकता है। इस समय अवधि में आपके कार्यों के प्रशंसा की जाएगी। जुलाई में शुक्र-बुध की युति लक्ष्मी-नारायण राजयोग से मेष राशि के जातकों के लिए शुभ होगा। आप वाहन या प्रॉपर्टी आदि खरीद सकते हैं।रियल स्टेट, जमीन, जायदाद या राजनीति से जुड़े लोगों को भी विशेष लाभ मिलने के संकेत है। भौतिक सुखों की प्राप्ति और नौकरी में उन्नति मिल सकती है। अचानक धन लाभ होने की संभावना है। करियर के लिए समय अनुकूल है।कारोबार और नौकरी पेशा से जुड़े लोगों को तरक्की मिलेगी। अचानक धन लाभ हो सकता है।

वृषभ राशि : ये गोचर जातकों के लिए लाभकारी सिद्ध होगा। वाहन और प्रॉपर्टी आदि के योग बनेंगे। स्वास्थ्य में सुधार देखने को मिलेगा। परिवार के साथ कहीं घूमने की प्लानिंग कर सकते हैं। शुक्र गोचर इस राशि की कुंडली के चतुर्थ भाव में बनने जा रहा है। शुभ फलों की प्राप्ति होगी। नौकरीपेशा को सफलता के साथ नई जिम्मेदारी मिल सकती है। आर्थिक मामलों में भी सफल होंगे। प्रॉपर्टी और रियल स्टेट से जुड़ा व्यापार करने वालों के लिए यह समय लाभदायक है।कार्यक्षेत्र में साथ काम कर रहे सहकर्मियों का पूरा साथ मिलेगा।

कुंभ राशि : शुक्र का सिंह राशि में प्रवेश वैवाहिक और पार्टनरशिप के लिहाज से अच्छा साबित होगा। इस अवधि में आपके वैवाहिक जीवन में मधुरता आएगी। पार्टनरशिप के काम में लाभ हो सकता है। प्रेम जीवन और पार्टनर के साथ संबंध सुधरेंगे। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी। विवाह के योग बनेंगे , अविवाहित लोगों को रिश्ते का प्रस्ताव आ सकता है। ये गोचर इस राशि के सप्तम भाव में बनने जा रहा है। व्यापार क्षेत्र में लाभ मिल सकता है और आकस्मिक धन लाभ के भी संकेत मिल रहे हैं। शुक्र जमकर धन-वर्षा करने वाले हैं। मीडिया जुड़े जातकों को बहुत लाभ मिलेगा।

कन्या राशि : कन्या राशि वालों के लिए मंगल का गोचर काफी शुभ फल देने वाला है। आर्थिक स्थिति में सुधार होने वाला है। सेहत को लेकर सावधानी रखने की आवश्यकता है। कार्यक्षेत्र में सहकर्मियों का सहयोग प्राप्त होगा। वाणी पर संयम रखने की जरूरत है। धन का निवेश करने से आपको लाभ प्राप्त होगा। बुध का गोचर करियर में सफलता और बिजनेस में मुनाफा दिलाएगा।विदेश में नौकरी का मौका मिलेगा और सैलरी बढ़ने की प्रबल संभावना है।

वृश्चिक राशि : इस दौरान सकारात्मक ऊर्जा से भरे रहेंगे। पराक्रम अधिक रहने के कारण रुके हुए कार्य पूर्ण करेंगे। नौकरी में पदोन्नति हो सकती है ।उच्च अधिकारी आपके कार्य की सराहना करेंगे। व्यापार में इस अवधि में अत्यधिक मुनाफा होने से मन प्रसन्न रहेगा। क्रोध से बचें। जीवनसाथी के साथ समय खुशनुमा व्यतीत होगा, अच्छा तालमेल रहेगा। स्वास्थ्य को लेकर समय सामान्य रहेगा। घर की सुख सुविधाओं के प्रति जातक ध्यान देंगे। नया वाहन आदि खरीदने की संभावना है।

मीन राशि : मंगल का गोचर शुभ रहने वाला है। आय में वृद्धि हो सकती है। नौकरी और व्यापार के लिए अनुकूल समय है। करियर में काफी वृद्धि होगी। परिवार में खुशियां आएंगी।बुध के गोचर से प्रमोशन के चांस हैं। करियर के लिहाज से शुभ समय है। विदेश में नौकरी के मौके मिलेंगे और अविवाहितों का विवाह हो सकता है। सेहत भी अच्छी रहेगी।

 

(Disclaimer : यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है, MP BREAKING NEWS किसी भी तरह की मान्यता-जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल लाने से पहले अपने ज्योतिषाचार्य या पंडित से संपर्क करें)


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News