सूर्य-शनि चमकाएंगे इन 6 राशियों का Luck, जमकर बरसेगी कृपा, शुभ योग- पावरफुल राजयोग का लाभ, धनलाभ-सफलता के प्रबल योग

astrology rajyog

Sun Transit /Rajyog 2023 : वैदिक ज्योतिष में ग्रहों, नक्षत्रों, कुंडली में राजयोग का विशेष महत्व माना जाता है। हर एक समय अंतराल के बाद ग्रह एक राशि से निकलकर दूसरी राशि में प्रवेश करता है, यह क्रम 12 महीने ही चलता रहता है, ऐसे में जब भी कोई ग्रह राशि परिवर्तित करता है, तो इसका असर राशियों पर भी सकारात्मक और नकारात्मक असर पड़ता है। इसी कड़ी में अब 17 अगस्त को ग्रहों के राजा सूर्य कर्क राशि से निकलकर सिंह में प्रवेश करने जा रहे है, ऐसे में शनि सूर्य मिलकर समसप्तक योग और वासी बनाएंगे। वही बुध सूर्य की युति से बुधादित्य राजयोग भी बनेगा। बुध सिंह रा​​शि में 1 अक्टूबर तक रहेंगे, ऐसे में बुधादित्य राजयोग 17 अगस्त से 17 सितंबर तक रहेगा।

समसप्तक योग

ज्योतिष के मुताबिक, जब कोई दो ग्रह एक-दूसरे से सातवें स्थान पर होते हैं, तब उन ग्रहों के बीच समसप्तक योग निर्मित होता है। दूसरे शब्दों में कहें तो जब ग्रह आपस में अपनी सातवीं पूर्ण दृष्टि से एक-दूसरे को देखते हैं तब समसप्तक योग बनता है। ज्योतिष में शनि और मंगल दोनों को ही पापी ग्रह की संज्ञा दी गई है और एक-दूसरे से सातवें स्थान पर होने पर ये दोनों ही ग्रह अशुभ परिणाम देते हैं। मंगल को अग्नि का कारक माना जाता है, वही सिंह राशि को भी अग्नि तत्व की राशि माना जाता है।

क्या होता है बुधादित्य राजयोग

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार आदित्य का मतलब सूर्य से होता है इस तरह से जब कुंडली में सूर्य और बुध दोनों ग्रह एक साथ मौजूद हों तो बुधादित्य योग बनता है। बुधादित्य योग कुंडली के जिस भाव में मौजूद रहता है उसे वह मजबूत बना देते है। कुंडली में बुध और सूर्य के एक साथ होने पर विशेष फल की प्राप्ति होती है। वही सौरमंडल में सूर्य के सबसे नजदीक बुध ग्रह ही होता है, ऐसे में कुंडली में बुध और सूर्य ज्यादातर समय एक साथ ही दिखाई देते हैं।जब किसी व्यक्ति की कुंडली में बुधादित्य योग बनता है उसे धन, सुख-सुविधा, वैभव और मान-सम्मान की प्राप्ति होती है।

वृश्चिक राशि : समसप्तक राजयोग बनना जातकों के लिए अच्छा होगा। पुराने निवेश से लाभ हो सकता है । काम- कारोबार में तरक्की मिल सकती है। किस्मत चमक सकती है। एक मजबूत नेटवर्क बनाने में कामयाब रहेंगे। इस समय आपकी इच्छाओं की पूर्ति होगी। वहीं बुधादित्य राजयोग का भी लाभ मिलेगा।

वृषभ राशि :  जातकों को समसप्तक राजयोग का बनना शुभ साबित हो सकता है।  विदेश से लाभ मिलने के योग है। इस दौरान विदेश जा भी सकते हैं। साहस और पराक्रम में वृद्धि हो सकती है।  एस्पोर्ट और इंपोर्ट का व्यापार कर रहे लोगों को लाभ मिल सकता है। राजनीति वालों के लिए समय अनुकूल साबित हो सकता है, पद की प्राप्ति हो सकती है। वहीं जो लोग इंजीनियर, पुलिस, सेना से जुड़े हुए हैं तो उनको इस समय अच्छा लाभ हो सकता है।

सिंह राशि :  समसप्तक राजयोग जातकों के लिए अनुकूल सिद्ध हो सकता है। आकस्मिक धनलाभ के योग बन सकते है। भौतिक सुखों की प्राप्ति होगी।  व्यापार के लिए समय अनुकूल है, विस्तार करने के लिए समय अच्छा रहेगा।  वाहन और प्रापर्टी खरीद सकते हैं। प्रतियोगी परीक्षा या उच्च अध्ययन की तैयारी कर रहे छात्रों को सफलता मिल सकती है।

सूर्य-शुक्र का कर्क राशि में संयोग

वैदिक ज्योतिष अनुसार ग्रह समय- समय पर गोचर करके अन्य ग्रहों के साथ युति बनाते रहते हैं। इन युतियों का प्रभाव मानव जीवन और पृथ्वी पर देखने को मिलता है। आपको बता दें कि ग्रहों के राजा सूर्य और धन- वैभव के दाता शुक्र की युति बन गई है और यह युति कर्क राशि में बनी है। इसलिए इस युति का प्रभाव मानव जीवन और पृथ्वी पर देखने को मिलेगा। लेकिन 3 राशियां ऐसी हैं, जिनको इस समय आकस्मिक धनलाभ और भाग्योदय के योग बन रहे हैं। आइए जानते हैं ये भाग्यशाली राशियां कौन सी हैं…

कर्क राशि : शुक्र और सूर्य की युति कर्क राशि के जातकों को शुभ होने वाला है। आत्मविश्वास में वृद्धि होगी और छात्रों के लिए समय अनुकूल रहेगा।  करियर काफी बेहतर हो जाएगा। नौकरीपेशा को कोई अच्छा ऑफर मिल सकता है।जीवनसाथी का आपको सहयोग प्राप्त होगा। अविवाहित लोगों के लिए समय अच्छा है, रिश्ते की बात चल सकती है, शादी के प्रस्ताव आ सकते है।

तुला राशि : शुक्र और सूर्य की युति आप लोगों के लिए लाभकारी साबित हो सकती है। क्योंकि यह युति आपकी राशि से कर्म भाव पर बन रही है। इसलिए इस समय आपको काम- कारोबार में तरक्की मिल सकती है। वहीं अगर आप कारोबारी हैं, तो इस दौरान आपके व्यापार में वृद्धि होने के संकेत मिलेंगे। इस दौरान आपका व्यापार काफी अच्छा रहेगा। वहीं जो नौकरी पेशा लोग हैं, उनको कार्यस्थल पर अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। वहीं बेरोजगार लोगों को नई नौकरी मिल सकती है। साथ ही इस समय आपको पैतृक संपत्ति का लाभ भी मिल सकता है।

मिथुन राशि : शुक्र और सूर्य की युति आप लोगों के लिए लाभकारी साबित हो सकती है। काम- कारोबार में तरक्की मिल सकती है। व्यापार में वृद्धि होने के संकेत मिलेंगे।  व्यापार काफी अच्छा रहेगा। वहीं जो नौकरी पेशा लोग हैं, उनको कार्यस्थल पर अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। वहीं बेरोजगार लोगों को नई नौकरी मिल सकती है। आपको पैतृक संपत्ति का लाभ भी मिल सकता है।

 

(Disclaimer : यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं, ज्योतिष, पंचांग, धार्मिक ग्रंथों और जानकारियों पर आधारित है, MP BREAKING NEWS किसी भी तरह की मान्यता-जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है। इन पर अमल लाने से पहले अपने ज्योतिषाचार्य या पंडित से संपर्क करें)


About Author
Pooja Khodani

Pooja Khodani

खबर वह होती है जिसे कोई दबाना चाहता है। बाकी सब विज्ञापन है। मकसद तय करना दम की बात है। मायने यह रखता है कि हम क्या छापते हैं और क्या नहीं छापते। "कलम भी हूँ और कलमकार भी हूँ। खबरों के छपने का आधार भी हूँ।। मैं इस व्यवस्था की भागीदार भी हूँ। इसे बदलने की एक तलबगार भी हूँ।। दिवानी ही नहीं हूँ, दिमागदार भी हूँ। झूठे पर प्रहार, सच्चे की यार भी हूं।।" (पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर)

Other Latest News