Guru Shukra Yuti: वर्षों बाद होगा गुरु और शुक्र का महामिलन, चमकेगी इन 3 राशियों की किस्मत, बरसेगा पैसा, सफलता चूमेगी कदम

गुरु और शुक्र की युति का नकारात्मक और सकारात्मक प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। आइए जानें किन-किन राशियों पर इस युति से लाभ होगा?

Manisha Kumari Pandey
Updated on -
guru shukra yuti

Guru Shukra Yuti 2024: वैदिक ज्योतिष शास्त्र में गुरु और शुक्र दोनों ही ग्रहों का विशेष महत्व होता है। करीब 12 साल बाद  इन दोनों ग्रहों की युति मेष राशि में बनने वाली है। दैत्यों के गुरु शुक्र 25 अप्रैल को मेष राशि में गोचर करेंगे, यहाँ 19 मई तक विराजमान रहेंगे। इस राशि में देवगुरु बृहस्पति पहले से ही मौजूद हैं। शुक्र को सौन्दर्य, सुख, भौतिक सुविधाओं, धन, लग्जरी इत्यादि का कारक माना जाता है। वहीं गुरु ज्ञान, विवाह, धन, सफलता इत्यादि के कारक हैं। दोनों ग्रहों की युति का नकारात्मक और सकारात्मक प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। लेकिन ऐसी तीन राशियाँ हैं, जिन्हे गुरु और शुक्र के मिलन से सबसे ज्यादा फायदा होने वाला है।

आइए जानें ये भाग्यशाली राशियाँ कौन-कौन सी हैं-

Continue Reading

About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है। अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"