Surya Gochar: वट सावित्री के बाद सूर्य बदलेंगे चाल, करेंगे नक्षत्र गोचर, चमकेगी इन 5 राशियों की किस्मत, जीवन में आएगी खुशहाली 

8 जून को सूर्य रोहिणी नक्षत्र से निकलकर मृगशिरा नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। आइए जानें इन नक्षत्र परिवर्तन से किन-किन राशियों को लाभ होगा?

surya gochar

Surya Gochar: सूर्य को जीवन का आधार माना जाता है। वैदिक ज्योतिष शास्त्र में इसे ग्रहों का राजा माना गया है। कुंडली में सूर्यदेव की मजबूत स्थिति व्यक्ति के जीवन को रोशन कर सकती है। इन्हें आत्मा, यश, पिता, सफलता, सम्मान इत्यादि कारक माना जाता है। सूर्य सिंह राशि के स्वामी हैं। तुला राशि इनकी नीच राशि है। 8 जून को सौरण्डल के सबसे बड़े ग्रह का नक्षत्र गोचर होने जा रहा है। शनिवार को 1:16 बजे सूर्य रोहिणी नक्षत्र से निकलकर मृगशिरा नक्षत्र में प्रवेश करेंगे। उसके बाद 22 जून को आर्दा नक्षत्र में गोचर करेंगे। सूर्य के इस नक्षत्र परिवर्तन का प्रभाव सभी राशियों पर पड़ेगा। पाँच राशियाँ ऐसी हैं, जिन्हें सबसे ज्यादा लाभ होगा-

तुला राशि 

सूर्य नक्षत्र परिवर्तन करके तुला राशि के जातकों का भाग्योदय करने वाले हैं। जातकों को कष्टों से मुक्ति मिलेगी। छात्रों को अच्छी खबर मिल सकती है। तनाव दूर हजोगा। संतान की ओर से कोई शुभ समाचार मिल सकता है। कार्यक्षेत्र में वरिष्ठ अधिकारियों का समर्थन मिलेगा। वाहन, घर, भूमि इत्यादि की खरीदारी हो सकती है।

मेष राशि 

मेष राशि के जातकों को भाग्य का साथ मिलेगा। मेहनत से किए गए कार्यों में सफलता मिलेगी। धन-धान्य में वृद्धि के योग बन रहे हैं। प्रमोशन और वेतनवृद्धि का लाभ मिल सकता है। करियर और कारोबार में लाभ होगा। लंबे समय से अटका हुआ धन वापस मिलेगा।

वृश्चिक राशि 

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए भी मृगशिरा नक्षत्र में सूर्य का गोचर अनुकूल रहेगा। व्यापार का विस्तार होगा। इनकम बढ़ेगी। धन-परिवार में खुशहाली आएगी। सेहत में भी सुधार देखने को मिलेगा। भूमि और संपत्ति से जुड़े विवाद खत्म होंगे।

कुं राशि 

कुंभ राशि के जातकों के लिए भी यह नक्षत्र गोचर शुभ रहेगा। भौतिक सुख-सुविधाओं में वृद्धि होगी। नया कार्य शुरू करने के लिए यह समय अनुकूल सिद्ध हो सकता है। विवाह की बात चलेगी। दाम्पत्य जीवन खुशनुमा होगा। पदोन्नति मिल सकती है। 

कर्क राशि 

कर्क राशि के जातकों के लिए सूर्यदेव सफलता और भाग्य के द्वार खोलेंगे। बिगड़े काम बनेंगे। समाज में मान-सम्मान पड़ेगा। प्रमोशन मिल सकता है। कारोबारियों को मुनाफा होगा। कोई भी नया कारोबार या काम शुरू करने के लिए यह समय शुभ है।

(Disclaimer: इस आलेख का उद्देश्य केवल सामान्य जानकारी साझा करना है, जो पंचांग, ग्रंथों, मान्यताओं और विभिन्न माध्यमों पर आधारित है। MP Breaking News इन बातों के सत्यता और सटीकता की पुष्टि नहीं करता।)

 


About Author
Manisha Kumari Pandey

Manisha Kumari Pandey

पत्रकारिता जनकल्याण का माध्यम है। एक पत्रकार का काम नई जानकारी को उजागर करना और उस जानकारी को एक संदर्भ में रखना है। ताकि उस जानकारी का इस्तेमाल मानव की स्थिति को सुधारने में हो सकें। देश और दुनिया धीरे–धीरे बदल रही है। आधुनिक जनसंपर्क का विस्तार भी हो रहा है। लेकिन एक पत्रकार का किरदार वैसा ही जैसे आजादी के पहले था। समाज के मुद्दों को समाज तक पहुंचाना। स्वयं के लाभ को न देख सेवा को प्राथमिकता देना यही पत्रकारिता है।अच्छी पत्रकारिता बेहतर दुनिया बनाने की क्षमता रखती है। इसलिए भारतीय संविधान में पत्रकारिता को चौथा स्तंभ बताया गया है। हेनरी ल्यूस ने कहा है, " प्रकाशन एक व्यवसाय है, लेकिन पत्रकारिता कभी व्यवसाय नहीं थी और आज भी नहीं है और न ही यह कोई पेशा है।" पत्रकारिता समाजसेवा है और मुझे गर्व है कि "मैं एक पत्रकार हूं।"