Dhanteras 2022 : तीन गुना ज्यादा लाभदायक होगा खरीदारी का महामुहूर्त, इन जातकों को सबसे ज्यादा मिलेगा लाभ

22 और 23 अक्टूबर के दिन धनतेरस (Dhanteras 2022) का त्योहार मनाया जाएगा। ऐसे में पहले दिन शनि प्रदोष पर यम दीपदान होगा और दूसरे दिन सर्वार्थ सिद्धि, अमृत सिद्धि योग में भगवान धन्वंतरि की पूजा अर्चना की जाएगी।

Dhanteras 2022

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। दीपावली (Diwali) के त्योहार में सिर्फ चार दिन बाकि है। वहीं 22 और 23 अक्टूबर के दिन धनतेरस (Dhanteras 2022) का त्योहार मनाया जाएगा। ऐसे में पहले दिन शनि प्रदोष पर यम दीपदान होगा और दूसरे दिन सर्वार्थ सिद्धि, अमृत सिद्धि योग में भगवान धन्वंतरि की पूजा अर्चना की जाएगी। कहा जा रहा है कि इस बार धनतेरस का महामुहूर्त तीन गुना लाभकारी है। ऐसे में धनतेरस के दिन सोना-चांदी, भूमि, भवन, वाहन, इलेक्ट्रानिक उपकरण, बर्तन के साथ आदि चीज़ों की खरीदारी काफी शुभ मानी जाएगी। ये खरीदारी लाभ भी पहुंचाएगी।

Must Read : Gold Silver Rate : दिवाली से पहले अच्छी खबर, सोना चांदी में बड़ी गिरावट, देखें ताजा भाव

आपको बता दे, ज्योतिषों द्वारा बताया गया है कि कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी शनिवार दोपहर 3.03 बजे शुरू हो जाएगी जो कि रविवार शाम 5.20 तक रहेगी। दरअसल, दिवाली के त्यौहार में प्रदोषकाल की प्रधानता होती है। ऐसे में अगर पंचांग के अनुसार, देखें तो 22 अक्टूबर शनिवार को धनतेरस, 23 अक्टूबर रविवार को रूप चतुर्दशी और 24 अक्टूबर सोमवार को महालक्ष्मी पूजन किया जाएगा। वहीं 25 अक्टूबर के दिन सूर्य ग्रहण है इसलिए इस दिन कोई कार्य नहीं किए जाएंगे वहीं गोवर्धन पूजन 26 और भाईदूज 27 अक्टूबर के दिन मनाया जाएगा। खास बात ये है कि इस बार धनतेरस दो दिन मनाया जाने वाला है।

इन राशि के जातकों के लिए लाभदायक है धनतेरस –

मेष, मिथुन, तुला, सिंह और धनु राशि के जातकों के लिए धनतेरस काफी ज्यादा लाभ दायक हो सकती है। क्योंकि ज्योतिषों द्वारा बताया गया है कि शनिवार को प्रदोष रहेगा वहीं रविवार को सर्वार्थ सिद्धि व अमृत सिद्धि योग रहेगा। ऐसे में शनि मार्गी होंगे। इस वजह से इन राशि के जातकों के लिए ये लाभदायक होगा। हालांकि दूसरी राशि के लोगों के लिए भी ये मिश्रित लाभदायक होने वाला है।

22 के दिन खरीदारी के लिए मुहूर्त –

  • शुभ: सुबह 7.50 से 9.15 और रात 8.55 से 10.30 बजे तक।
  • चर: दोपहर 12.05 से 1.30 बजे तक।
  • लाभ: दोपहर 1.31 से 2.55 और शाम 5.45 से 7.20 बजे तक।
  • अमृत: दोपहर 2.55 से शाम 4.20 और रात 10.31 से 12.05 बजे तक।

23 के दिन खरीदारी और धन्वंतरि पूजन के लिए मुहूर्त –

  • चर: सुबह 7.51 से 9.15 और रात 8.54 से 10.30 बजे तक।
  • लाभ: सुबह 9.15 से 10.40 लाभ।
  • अमृत: सुबह 10.40 से दोपहर 12.05 और शाम 7.20 से रात 8.54 बजे तक।
  • शुभ: दोपहर 1.30 से 2.55 और शाम 5.44 से 7.20 तक।