साल का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी को, जानिये किस राशि पर क्या होगा प्रभाव

797

धर्म-कर्म: साल 2020 का पहला चंद्रग्रहण 10 जनवरी को लगने जा रहा है। यूं तो यह उपछाया चंद्रग्रहण है जिसका बहुत प्रभाव नहीं होता है क्योंकि इसमें चंद्रमा की काला छाया पृथ्वी पर नहीं पड़ती है। साल का ये पहला ग्रहण है. इसे मांद्य चंद्रग्रहण भी कहा जा रहा है. चंद्र ग्रहण का सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ेगा| 

यह ग्रहण 10 जनवरी को रात 10 बजकर 38 मिनट से शुरू होगा. इस ग्रहण को भारत के साथ साथ यूरोप,आस्ट्रेलिया,एशिया, अफ्रीका के देशों में भी देखा जा सकेगा| ग्रहण का मध्य 12:40 बजे होगा, मोक्ष रात 2 बजकर 42 मिनट पर होगा, ये ग्रहण 4 घंटे 50 मिनट का रहेगा| 11 जनवरी को रात 2 बजकर 42 मिनट पर यह चंद्र ग्रहण समाप्त होगा, पिछले 10 साल में इस तरह का यह छठवां चंद्र ग्रहण है|


इन तारीखों पर इस बार सूर्य और चंद्र ग्रहण

– पहला चंद्र ग्रहण 10 जनवरी को लगेगा, जो भारत में देखा जा सकेगा।

– दूसरा चंद्र ग्रहण 5 जून को लगेगा। इस ग्रहण की दृश्यता भारत में रहेगी।

– तीसरा चंद्र ग्रहण 5 जुलाई को पड़ेगा।

– चौथा चंद्र ग्रहण 30 नवंबर को होगा, जो भारत में दिखाई देगा।

– पहला सूर्य ग्रहण 21 जून को होगा, जो भारत में दिखाई देगा।

 – दूसरा सूर्य ग्रहण 14 दिसंबर को होगा।

मेष

मेष राशि से तृतीय भाव में चंद्र ग्रहण मित्रों और छोटे भाई बहनों से सम्बन्ध खराब करा सकता है इसीलिए गायत्री मन्त्र 108 बार जपें तथा भगवान शिव के नमः शिवाय मंत्र का 3 माला जाप करें

वृषभ

इस राशि से दूसरे भाव में चंद्र ग्रहण धन कुटुंब सम्बंधित वाद विवाद करवा सकता है. इसलिए सफेद चीजों का दान करें जैसे सफेद कपड़ा चावल आदि

मिथुन

इस बार चंद्र ग्रहण मिथुन राशि में ही लग रहा है. यह चंद्र ग्रहण स्वास्थ्य को लेकर परेशानी करवा सकता है इसलिए कच्चे दूध से रुद्राभिषेक अवश्य करवाएं

कर्क

कर्क राशि से बारहवे घर मे चंद्र ग्रहण होने से स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है. मन अशांत रहेगा. इस दौरान चंद्रमा के मंत्र का जाप करें. ये मंत्र है ‘ॐ सोम सोमाय नमः

सिंह

सिंह राशि के 11वें घर में चंद्र ग्रहण होने से इन राशि के लोगों को धन लाभ ज्यादा हो सकता है. खर्चों को रोकने के लिए दवा का दान करें और ‘ऊं नमः शिवाय मंत्र’ का जाप करें

कन्या

इस राशि में 10वें घर में चंद्र ग्रहण होने से कार्यों में देरी हो सकती है. इसके अलावा नौकरी में बदलाव भी हो सकता है. आपको इस दिन शिवलिंग का कच्चे दूध से अभिषेक करना चाहिए

तुला

तुला राशि से नवम भाव में यह चंद्रग्रहण आपके कैरियर में बदलाव ला सकता है. सफेद चीजों के दान के साथ चंद्रमा के मंत्रों का जाप करें और अपनी माता को कोई सफेद चीज उपहार में दें

वृश्चिक

राशि से अष्टम भाव में चंद्र ग्रहण हर कार्य मे गड़बड़ी करायेगा. इसकी वजह से आखों की समस्या हो सकती है और भाग्य में रुकावट आ सकता है. चावल की खीर बनाकर शिवलिंग पर अर्पित करें

धनु

धनु राशि से सप्तम भाव में यह चंद्रग्रहण दाम्पत्य जीवन मे खराबी करेगा. यह चंद्र ग्रहण व्यापार में नुकसान करायेगा. अचानक कोई दुर्घटना घट सकती है. पंचाक्षरी मंत्र ‘ॐ नमः शिवाय’ का 11 माला जाप करें

मकर

मकर राशि से छठे भाव में यह चंद्र ग्रहण मन मे निराशा और जीवनसाथी से वाद विवाद को बढ़ा सकता है. जीवन साथी के साथ शिवलिंग की पूजा करें और शिवाष्टक का पाठ करें

कुंभ

इस राशि से पंचम भाव में यह चंद्रग्रहण पेट के रोग और प्रेम के मामलों में गड़बड़ी करेगा. शिवलिंग पर दाएं हाथ से दूध चढ़ाएं और ॐ नमः शिवाय या नमः शिवाय का जाप करें तथा अपनी माता के चरण स्पर्श करें

मीन

मीन राशि से चौथे भाव में चंद्रग्रहण आपकी माता की सेहत खराब करेगा. इससे आपके मन में निराशा आ सकती है. भगवान शिव शंकर की पूजा करें और अपने घर की उत्तर पूरब दिशा को हमेशा साफ रखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here