Janmashtami 2022 : कब मनाया जाएगा जन्माष्टमी का त्यौहार? ऐसे करें कंफ्यूजन दूर

भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन जन्माष्टमी (Janmashtami) मनाई जाती है। ऐसे में इस बार कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 18 अगस्त की रात 9:21 से शुरू होकर 19 अगस्त रात 10:50 तक रहेगी।

Janmashtami

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन जन्माष्टमी (Janmashtami) मनाई जाती है। ऐसे में इस बार कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 18 अगस्त की रात 9:21 से शुरू होकर 19 अगस्त रात 10:50 तक रहेगी। ऐसे में लोगों को कृष्ण जन्माष्टमी के त्यौहार की तारीख को लेकर काफी ज्यादा कंफ्यूजन है। आपको बता दें, 11 अगस्त के दिन राखी का त्यौहार मनाया जाएगा। उसके बाद जन्माष्टमी का त्यौहार आएगा। सभी हिंदू धर्म के लोग इस त्यौहार का बड़े ही बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। दरअसल, भाद्रपद महीने की शुरुआत राखी के बाद 13 अगस्त 2022 से ही शुरू हो जाएगी।

ऐसे में जन्माष्टमी के त्यौहार को बड़े ही धूमधाम से मनाया जाएगा। क्योंकि बीते 2 साल कोरोना वायरस की वजह से इस त्यौहार को अच्छे से नहीं मनाया गया। लेकिन इस साल लोग धूमधाम से जन्माष्टमी का त्योहार मनाएंगे। आपको बता दें, भादो में ही रोहिणी नक्षत्र में भगवान कृष्ण का जन्म रात के समय हुआ था। ऐसे में यह त्यौहार काफी ज्यादा महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन लोग अपने घरों में मंदिर को अच्छे से सजाकर अच्छा-अच्छा भोग बनाते हैं। वही लड्डू गोपाल को लड्डुओं का भोग भी लगाया जाता है।

Must Read : Manushi Chillar ने फटे हुए टॉप में दिखाई पूरी ब्रालेट, तस्वीरें वायरल

Janmashtami

जैसा कि आप सभी जानते हैं इस बार अष्टमी तिथि 2 दिन पढ़ रही है ऐसे में लोगों को कंफ्यूजन है कि जन्माष्टमी किस तारीख को मनाई जाएगी, तो आज हम आपका कंफ्यूजन दूर करने जा रहे हैं। चलिए जानते हैं किस दिन जन्माष्टमी का त्योहार मनाया जाएगा और पूजा का सही समय क्या है।

ज्योतिष द्वारा बताया गया है कि कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 18 अगस्त 9:21 से शुरू होने वाली है जो कि 19 अगस्त रात 10:50 तक रहेगी। ऐसे में ज्योतिषों ने बताया है कि लोग 18 अगस्त को ही जन्माष्टमी का त्यौहार मनाएंगे। लेकिन कुछ विद्वान लोग 19 अगस्त को अच्छा बता रहे हैं। जिसकी वजह से लोगों में कन्फ्यूजन की स्थिति बन रही है। ऐसे में ज्योतिष ने बताया है कि गृहस्थ जीवन जीने वाले लोग 18 अगस्त को जन्माष्टमी मनाएंगे। वही वृंदावन में उत्सव मनाने वाले लोग 19 अगस्त के दिन इस त्यौहार को मनाएंगे।

Janmashtami : यह है पूजा का शुभ मुहूर्त –

जन्माष्टमी पर पूजा करने का शुभ मुहूर्त 18 अगस्त की रात 12:20 से 1:05 तक रहेगा। ऐसे में पूजा की अवधि 45 मिनट की ही रहेगी। वहीं व्रत के पारण का मुहूर्त 19 अगस्त को रात 10: 59 तक रहेगा।