कल मनाई जाएगी कामदा एकादशी, कुँवारी कन्याओं को होगा लाभ, जाने पूजा और पारण का शुभ मुहूर्त

इस साल 12 अप्रैल यानी कल कामदा एकादशी (Kamada Ekadashi ) मनाई जाएगी। यह एकादशी कुँवारी लड़कियों के लिए बहुत शुभ मानी जाती है।

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। इस साल 12 अप्रैल यानी कल कामदा एकादशी (Kamada Ekadashi ) मनाई जाएगी। यह एकादशी कुँवारी लड़कियों के लिए बहुत शुभ मानी जाती है। पंचांग के मुताबिक कल एकादशी की तिथि पड़ रही है। हिंदू मान्यताओं की माने तो एकादशी का व्रत सभी व्रतों में सबसे ज्यादा अच्छा माना जाता है और इससे मनचाहे फल की प्राप्ति भी होती है। चैत्र मास यानी अप्रैल के महीने में पड़ने वाले शुक्ल पक्ष की एकादशी “कामदा एकादशी” के नाम से जानी जाती है, यह एकादशी का व्रत भगवान विष्णु से जुड़ा होता है और इस दिन पूजा करने से भगवान विष्णु व्रतियों को आशीर्वाद भी देते हैं और उनकी मनोकामना को भी पूरा करते हैं।

यह भी पढ़े … तरबूज के बीज फायदे जान आप हो जाएंगे हैरान, हड्डियों को भी बनाता है मजबूत

कुँवारी कन्याओं को होगा लाभ

मान्यताओं के मुताबिक कामदा एकादशी कुंवारी लड़कियों के लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होती है, जो भी कन्या कामदा एकादशी का व्रत रखती है, उसके जीवन में विवाह से जुड़ी परेशानियां खत्म हो जाती है। मनचाहा वरदान पाने के लिए साबुत हल्दी की गांठ भगवान विष्णु पर जरूर चढ़ाएं। बता दें कि कामदा एकादशी में दान का बहुत महत्व होता है यदि कोई व्रतधारी इस दिन गंगा स्नान करने के बाद दान करता है, तो उसकी मनचाही कामना पूरी होती है।

व्रत और पारण का शुभ मुहूर्त

पंचांग के अनुसार कल मंगलवार को सुबह 4:30 से शुक्ल पक्ष एकादशी शुरू हो रही है, जो 13 अप्रैल 5:02 सुबह तक रहेगी। सुबह 6:00 बजे से लेकर सुबह 8:30 बजे तक स्वार्थ सिद्धि योग बन रहा है, साथ ही रवि योग बनने के भी संभावनाएं हैं। इस दौरान भगवान विष्णु की पूजा करना बहुत ही ज्यादा शुभ माना जाता है। एकादशी का पारण 13 अप्रैल को किया जाएगा। पारण करने का सही समय है दोपहर 1:40 से लेकर शाम 4:12 तक है।

Disclaimer: यह खबर केवल मान्यताओं के आधार पर शिक्षित करने के उद्देश्य से है, इसका मकसद भ्रम फैलाना नहीं है। कृप्या विद्वानों की सलाह जरूर लें।