Hast Rekha Shastra: जानें क्या कहती है हथेली की बनावट, भाग्य के बारे में चलता है पता

Sanjucta Pandit
Published on -

Hast Rekha Shastra : हस्तरेखा शास्त्र एक परंपरागत ज्योतिष शास्त्र है। जिसमें हाथ की रेखाओं का अध्ययन करके व्यक्ति के स्वभाव, व्यवहार और भविष्य के बारे में जानकारी प्राप्त करने का प्रयास किया जाता है। इसका मूल उद्देश्य व्यक्ति की प्राकृतिक प्रवृत्तियों और व्यक्तिगत भावनाओं को समझने का प्रयास करना है। हाथ की रेखाओं के आधार पर विशिष्ट योग्यताओं, विकल्पों, समस्याओं और भविष्य में आने वाली घटनाओं के बारे पता लगाया जा सकता है।

Hast Rekha Shastra: जानें क्या कहती है हथेली की बनावट, भाग्य के बारे में चलता है पता

चौकोर हथेली

हस्तरेखा शास्त्र में विभिन्न हाथ के आकारों को व्यक्ति के व्यवहार और स्वभाव के साथ जोड़कर विशेष विवरण दिया जाता है। चौकोर या समकोणिक आकार के हाथ वाले लोग दयालुता, स्वाभिमान और अच्छे चरित्र के होते हैं। इस प्रकार के हाथ वाले व्यक्ति की मानसिकता गंभीर और सोचने-समझने वाली होती है।

चौड़ी हथेली

हाथरेखा शास्त्र के अनुसार, यदि आपका कलाई के पास चौड़ी हथेली है तो इसे चमसाकर आकार का हाथ कहा जाता है। ऐसे व्यक्ति आदर्शवादी, मेहनती होते हैं। साथ ही, कुशलता के साथ हर काम करने की क्षमता रखते हैं।

गठीले हाथ

हाथरेखा शास्त्र के अनुसार, यदि आपका हाथ लंबे और गठीले आकार का है तो इस दार्शनिक हाथ कहते हैं। दार्शनिक हाथ वाले व्यक्ति की विशेषता विवेकी और रचनात्मक प्रवृत्ति के साथ जुड़ी होती है जो आमतौर पर कला, साहित्य, विज्ञान आदि के क्षेत्र में उत्कृष्टता प्राप्त करते हैं।

लंबे और पतले हाथ

हस्तरेखा शास्त्र में जो हाथ मामूली लंबाई, चौड़ाई के होते हैं और जिनकी उंगलियों का ऊपरी हिस्सा पतला और निचला हिस्सा मोटा होता है, ऐसे हाथों को कलापूर्ण हाथ कहते हैं। कलापूर्ण हाथ वाले व्यक्तियों का विशेषता धन कमाने की क्षमता होती है लेकिन कार्यों को अधूरा छोड़ने की आदत भी होती है। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, इस प्रकार के हाथ वाले लोग आमतौर पर काम को बीच में छोड़ देते हैं। जिससे उन्हें कई बार तकलीफ उठानी पड़ती है।

छोटी हथेली

हाथरेखा शास्त्र के अनुसार, छोटी हथेली वाले व्यक्तियों को सुखी जीवन और साफ मन की प्रवृत्ति का संकेत माना जाता है। वे भक्ति और ध्यान के प्रति आकर्षित होते हैं और नई चीजों की सीखने की प्रेरणा रखते हैं।

(Disclaimer: यहां मुहैया सूचना सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। MP Breaking News किसी भी तरह की मान्यता, जानकारी की पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से सलाह लें।)


About Author
Sanjucta Pandit

Sanjucta Pandit

मैं संयुक्ता पंडित वर्ष 2022 से MP Breaking में बतौर सीनियर कंटेंट राइटर काम कर रही हूँ। डिप्लोमा इन मास कम्युनिकेशन और बीए की पढ़ाई करने के बाद से ही मुझे पत्रकार बनना था। जिसके लिए मैं लगातार मध्य प्रदेश की ऑनलाइन वेब साइट्स लाइव इंडिया, VIP News Channel, Khabar Bharat में काम किया है। पत्रकारिता लोकतंत्र का अघोषित चौथा स्तंभ माना जाता है। जिसका मुख्य काम है लोगों की बात को सरकार तक पहुंचाना। इसलिए मैं पिछले 5 सालों से इस क्षेत्र में कार्य कर रही हुं।

Other Latest News