जानें क्या कहता है अंक शास्त्र का ये नंबर, किस्मत से जुड़ा है संकेत

Numerology horoscope

Numerology: हर व्यक्ति के जीवन में होने वाली घटनाओं का सीधा संबंध घर नक्षत्रों की दशा से होता है। कुंडली में होने वाला ग्रहों का बदलाव व्यक्ति के जीवन में कई तरह के परिवर्तन लाता है। जिस तरह से ग्रहों की स्थिति के मुताबिक व्यक्ति के जीवन के बारे में कई तरह की बातों का पता लगाया जा सकता है। उसी तरह से अंक शास्त्र भी ज्योतिष की एक ऐसी शाखा जो व्यक्ति के जीवन की कई बातों का खुलासा करती है।

अंक शास्त्र में मूलांक के जरिए व्यक्ति की वर्तमान, भविष्य, व्यवहार, सफलता, असफलता समेत कई बातों का पता लगाया जाता है। इसके अलावा अंक शास्त्र पूरी तरह से अंकों पर काम करता है और आज हम आपको एक बहुत ही खास यानी कि एंजेल नंबर के बारे में बताते हैं।

कई बार हमें कुछ अंक बार-बार दिखाई देते हैं लेकिन हम उन्हें नार्मल समझ कर ध्यान नहीं देते हैं। अंक शास्त्र के मुताबिक बार-बार एक ही तरह का नंबर देखना आपकी किस्मत से जुड़ा कोई ना कोई संदेश हो सकता है। न्यूमरोलॉजी 0 से 9 तक के अंकों के आधार पर सभी चीजों का आंकलन किया जाता है।

अगर कुछ रिपीटिंग नंबर जैसे 111, 222, 555, 777, 11:11 जैसे अंको को अगर बार-बार देख रहे हैं तो यह यूनिवर्स से आपके लिए कोई मैसेज हो सकता है। इन सभी अंकों का विशेष धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व होता है। आज हम आपको एंजेल नंबर 999 के बारे में बताते हैं।

क्या कहता है एंजेल नंबर 999

इस अंक को पूर्णता और समापन के तौर पर देखा जाता है।999 नंबर अगर आपको बार-बार दिखाई दे रहा है तो इसका यह मतलब है कि आपके जीवन से जुड़ा हुआ कोई प्रोजेक्ट, रिश्ता, अध्याय या परिस्थिति खत्म होने वाली है। यह कोई नकारात्मक संकेत नहीं है बल्कि इसका मतलब यह है कि मौजूदा स्थिति से आपने भली-भांति सबक ले लिया है। ये संख्या नए अवसर खुलने का संकेत भी देती है।

करियर में बदलाव

करियर को लेकर नंबर 999 बदलाव की और इशारा करता है। इस नंबर के जरिए यूनिवर्स आप तक यह मैसेज पहुंचाना चाहता है कि आप अपने कार्य क्षेत्र में स्थानांतरण, बदलाव या फिर या फिर एडजस्टमेंट जैसी परिस्थितियों का सामना करेंगे। यह बदलाव थोड़े उथल-पुथल भरते रहेंगे लेकिन पॉजिटिव रहने से आगे जाकर अच्छे परिणाम मिलेंगे।

भूतकाल को भूलना

इस नंबर का बार-बार देखना किसी भावनात्मक बोझ, पछतावे या पास्ट में हुए किसी अनुभव से मिली भावना को मन से बाहर निकालने का संकेत भी देता है। अगर आप पॉजिटिव रहना चाहते हैं तो जीवन में आगे बढ़ने के लिए आपको अपने बीते जीवन में घटनाओं को भूलना होगा और आने वाले मौके पर ध्यान देना होगा।

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं के आधार पर बताई गई है। इसके सत्य और सटीक होने का दावा MP Breaking News नहीं करता।)


About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।

Other Latest News