Sharad Purnima : जानें कब है शरद पूर्णिमा, इन उपायों को करने से प्रसन्न होती है मां लक्ष्मी

हिंदू धर्म में शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima) का काफी ज्यादा महत्व माना जाता है। दरअसल इस पूर्णिमा को कोजागिरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। हिंदू पंचांग में हर साल अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की तिथि पर शरद पूर्णिमा मनाई जाती है।

Sharad Purnima

धर्म, डेस्क रिपोर्ट। हिंदू धर्म में शरद पूर्णिमा (Sharad Purnima) का काफी ज्यादा महत्व माना जाता है। दरअसल इस पूर्णिमा को कोजागिरी पूर्णिमा के नाम से भी जाना जाता है। हिंदू पंचांग में हर साल अश्विन मास के शुक्ल पक्ष की तिथि पर शरद पूर्णिमा मनाई जाती है। इस बार यह पूर्णिमा 9 अक्टूबर को आ रही है। खास बात यह है कि पूर्णिमा के दिन चंद्रमा अपनी 16 कलाओं से परिपूर्ण होता है। कहा जाता है कि इस दिन माता लक्ष्मी भी धरती पर आती है, इसलिए इस दिन का काफी ज्यादा महत्व माना जाता है।

आपको बता दें शरद पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कई तरह के उपाय किए जाते हैं। इन उपायों को करने से मां लक्ष्मी का आशीर्वाद तो मिलता ही है। साथ ही धन वैभव और सुख समृद्धि भी बनी रहती है। आज हम आपको शरद पूर्णिमा के दिन किए जाने वाले कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं। जिन्हें को कर कर आप अपने कष्टों को दूर कर सकते हैं। वहीं मां लक्ष्मी को प्रसन्न कर धन से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पा सकते हैं, तो चलिए जानते हैं उन उपायों के बारे में –

Must Read : ऐश्वर्या राय की इस फिल्म ने की ताबड़तोड़ कमाई, बनी तमिल की सबसे ज्यादा कमाई करने वाली मूवी

यह है Sharad Purnima की तिथि और शुभ मुहूर्त –

आपको बता दें, शरद पूर्णिमा आश्विन माह के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि पर मनाया जाता है। इस बार यह 9 अक्टूबर के दिन आ रहा है। ऐसे में सुबह 3:00 बज कर 41 मिनट से शुरू होगी, जो 10 अक्टूबर के दिन 2:25 तक रहेगी। इस दिन चंद्रमा शाम 5:00 बज कर 58 मिनट पर दिखेगा।

यह है Sharad Purnima के दिन किए जाने वाले उपाय –

ज्योतिषियों के मुताबिक, शरद पूर्णिमा वाले दिन धन की देवी महालक्ष्मी उल्लू की सवारी पर सवार होकर धरती के भ्रमण के लिए आती है। कहा जाता है कि मां लक्ष्मी का शरद पूर्णिमा के दिन जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन का काफी ज्यादा महत्व होता है। इस दिन किए जाने वाले उपाय महालक्ष्मी को प्रसन्न करते हैं। इस वजह से महालक्ष्मी भक्तों पर अपनी कृपा बरसा कर उनके सारे दुख दूर करती है। अगर आप ही अपने जीवन में आ रही आर्थिक तंगी को दूर करना चाहते हैं और धन दौलत में तरक्की करना चाहते हैं, तो मां लक्ष्मी के लिए इन उपायों को जरूर करें –

Must Read : Garlic Benefits : रोजाना सुबह खाली पेट खाए लहसुन, इन बीमारियों से रहेंगे कोसों दूर, जानें फायदे

सबसे पहले बात करते हैं मां लक्ष्मी को चढ़ाई जाने वाली कौड़ी के बारे में तो आपको बता दें शरद पूर्णिमा के दिन मां लक्ष्मी के पास रात को ऑडियो को रखकर विधि विधान से पूजन करने के बाद कनकधारा स्त्रोत का पाठ करना चाहिए। साथ ही सातों कौड़ियों को लाल या पीले रंग के वस्त्र में बांधकर अपनी तिजोरी या पर्स में रखना चाहिए। ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होकर अपना आशीर्वाद देती है और धन्य धन्य से संपूर्ण करती है।

अब बात करते हैं महालक्ष्मी को चढ़ाई जाने वाली सुपारी के उपाय के बारे में तो आपको बता दें मां लक्ष्मी की विशेष पूजन करते वक्त सुपारी चढ़ाने का काफी ज्यादा महत्व माना गया है। कहा जाता है कि अक्षत कुमकुम के साथ सुपारी को चढ़ाने से धन से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। इसलिए आप मां लक्ष्मी के चरणों में अक्षत कुमकुम चढ़ाएं। उसके बाद लाल या पीले रंग के कपड़े में सुपारी और इन सभी चीजों को रख कर अपनी तिजोरी में रख दें। आपको काफी ज्यादा फायदा देखने को मिलेगा।

Sharad Purnima : खुले आसमान में खीर रखने की मान्यता –

कहा जाता है कि शरद पूर्णिमा की रात को चंद्रमा की किरणों से अमृत निकलता है। इस वजह से हर कोई पूर्णिमा की रात को खीर बनाकर अपने छत पर खुला रखता है और उस खीर को अगले दिन खाया जाता है। यह भी कहा जाता है कि इस खेल के सेवन से कई बीमारियों से छुटकारा भी पाया जाता है। वहीं जीवन के कष्ट भी इस खीर को खाने से दूर किए जा सकते हैं।

डिस्क्लेमर – इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। एमपी ब्रेकिंग इनकी पुष्टि नहीं करता है। किसी भी जानकारी या मान्यता को अमल में लाने से पहले संबंधित विशेषज्ञ की सलाह लें।