Nitin Gadkari ने कहा, 8 सीटर वाहन में कम से कम 6 एयरबैग अनिवार्य

सड़क दुर्घटनाओं में होने वाली मौत को रोकने के लिए सरकार का बड़ा फैसला। एयरबैग की संख्या बढ़ाने की अनिवार्यता पर नितिन गडकरी के ट्वीट।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। बढ़ती सड़क दुर्घटनाओं और सुरक्षा के लिहाज से केंद्र सरकार अब आठ सवारी वाले वाहनों में कम-से-कम छह एयरबैग अनिवार्य करने का मन बना चुकी है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी(Nitin Gadkari) ने शुक्रवार को इस बारे में एक के बाद एक कई ट्वीट किए। गडकरी ने ट्वीट में कहा कि वाहनों में सवार लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए वाहन विनिर्माताओें को गाड़ियों में एयरबैग की संख्या बढ़ानी होगी। उन्हें आठ सवारियों तक की क्षमता वाले वाहनों में न्यूनतम छह एयरबैग लगाने के निर्णय के साथ आगे बढ़ना होगा। वाहनों में एयरबैग बढ़ने से पैसेंजर की सुरक्षा बढ़ेगी।

यहां भी देखें- Jabalpur news: जबलपुर की सामाजिक संस्था  बनी मददगार, तब जाकर हुआ गरीब की पत्नी का अंतिम संस्कार 

इससे पहले सरकार पहले ही सभी यात्री वाहनों में कम-से-कम दो एयरबैग देना अनिवार्य कर चुकी है जिसमें ड्राइवर के लिए एयरबैग की अनिवार्यता जुलाई 2019 से लागू है। सहयात्री के लिए एयरबैग एक जनवरी 2022 से अनिवार्य हो चुका है।

यहां भी देखें- Jabalpur news: मध्यप्रदेश हाईकोर्ट की जबलपुर खंडपीठ ने जीती आत्म सम्मान की लड़ाई, जानिए क्या है पूरा मामला? 

नितिन गडकरी ने ट्वीट में कहा कि वाहनों की आमने-सामने की टक्कर और बगल से होने वाली टक्कर के असर को कम कर सवारियों को सुरक्षित रखने के लिए यह तय किया गया है कि वाहनों में चार अन्य एयरबैग भी दिए जाएं। गडकरी ने कहा, “पीछे की सीट पर अगल-बगल दो एयरबैग देने और दो ट्यूब एयरबैग देने से सभी सवारियों के लिए सफर को सुरक्षित बनाया जा सकेगा।

यहां भी देखें- Guna news: प्रभारी मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने क्यों जारी किया खाद्य आपूर्ति अधिकारी के खिलाफ नोटिस?

उन्होंने कहा कि एयरबैग की संख्या बढ़ाने का कदम सभी तरह के वाहनों एवं सभी मूल्य दायरे वाले वाहनों में बैठे लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने की दिशा में महत्वपूर्ण होगा। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, 2020 में राष्ट्रीय राजमार्गों पर कुल 1.16 लाख सड़क हादसों में 47,984 लोगों ने जान गंवाई।