आज से शुरू सावन का पवित्र महीना, घर में जरूर लाए ये 10 चीजें, भोलेनाथ करेंगे हर मनोकामनाएं पूर्ण

आज से सावन (Sawan) का महीना शुरू हो गया है। ये महीने बेहद ही पवित्र माना जाता है। सावन का महीना भगवान शिव को अति प्रिय होता है। इस महीने में मांगी गई हर मनोकामनाएं पूर्ण होती है।

sawan

आज से सावन (Sawan) का महीना शुरू हो गया है। ये महीने बेहद ही पवित्र माना जाता है। सावन का महीना भगवान शिव को अति प्रिय होता है। इस महीने में मांगी गई हर मनोकामनाएं पूर्ण होती है। इस महीने को श्रावण मास भी कहा जाता है। इस महीने में विधि विधान से पूजा करने से अच्छा फल प्राप्त होता है। इस महीने में भी भगवान शिव और माता पार्वती का मिलन हुआ था।

ऐसे में ये महीना और ज्यादा पवित्र माना जाता है। साथ ही मनचाह वर के लिए भी लड़कियों को आशीर्वाद प्रदान करते है। इस महीने में सच्चे मन से प्रार्थना करने पर भोलेनाथ अपने भक्तों के हर दुःख दूर करते हैं। आज हम आपको सावन से जुड़े कुछ खास नियम और शुभ मुहूर्त के बारे में बताने जा रहे हैं। तो चलिए जानते हैं –

Must Read : Saavan 2022 : उज्जैन हुआ महाकालमयी, सावन के पहले दिन हर हर महादेव से सजा महाकाल का दरबार

आपको बता दे, कल से सावन का महीना शुरू हो रहा है। ऐसे में पहला सोमवार 18 जुलाई के दिन आ रहा है और आखरी सोमवार 8 अगस्त के दिन है। सावन के महीने का समापन 12 अगस्त के दिन होगा। खास बात इस बार सावन में ये है कि 4 सोमवार आ रहे हैं, ऐसे में इसे बेहद सुबह माना जा रहा है।

शुभ मुहूर्त –

सावन के पहले दिन ब्रह्म मुहूर्त सुबह 4:11 से सुबह 04:52 तक रहा। अभिजीत मुहूर्त सुबह 11:59 से दोपहर 12:54 तक रहेगा। विजय मुहूर्त दोपहर 02:45 से दोपहर 03:40 तक रहेगा। गोधूलि मुहूर्त शाम 07:07 से शाम 07:31 तक रहेगा।

घर लाए ये चीज़ें –

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक, बताया गया है कि सावन के महीने में कुछ खास चीज़ों को घर में लाने से भोलेनाथ बेहद प्रसन्न होते है। इन चीज़ों को घर लाने से घर में सुख शांति बनी रहती है।

  1. रुद्राक्ष
  2. त्रिशूल
  3. डमरू
  4. जलपात्र
  5. चांदी के नंदी
  6. चांदी के नाग-नागिन का जोड़ा
  7. चांदी की डिब्बी में भस्म
  8. चांदी का कड़ा
  9. चांदी का चंद्रमा
  10. चांदी के बिल्व पत्र

सावन के महीने के इन जरूरी नियम का करें पालन –

  • सावन के महीने में हर सोमवार के दिन खास कर व्रत रखना चाहिए।
  • रोजाना भोलेनाथ का जलाभिषेक जरूर करें।
  • जलाभिषेक के साथ ॐ नमः शिवाय का जाप जरूर करें। इसके साथ ही सोमवार की व्रत कथा भी सुनें।
  • इसके अलावा आप सोमवार के दिन महामृत्युंजय मंत्र का 108 बार जाप करें।
  • वहीं शिव जी की पूजा कर रहे है तो आप उन्हें पंचामृत का भोग शिवलिंग पर चढ़ाएं।
  • इस महीने में रुद्राक्ष धारण करना बेहद शुभ माना गया है।

इन चीज़ों का रखें ध्यान –

  • सावन के इस पावन महीने में किसी से भी झगड़ा नहीं करना चाहिए। इसके अलावा किसी का भी अपमान इस महीने में नहीं करना चाहिए।
  • सावन के महीने में शराब, मास मच्छी खाने से बचे। इसके साथ ही इस महीने में ज्यादा दूध का सेवन भी अच्छा नहीं माना गया है।
  • इस महीने में अगर आपने सोमवार का व्रत रखना शुरु कर दिया है तो इसे बिच में न छोड़े।
  • साथ ही सावन में लहसुन, प्याज, मूली, बैगन और अदरक का सेवन करने से बचना चाहिए।
  • पूजा के दौरान शिव जी को हल्दी, केतकी के फूल, तुलसी के पत्ते भूल कर भी ना चढ़ाएं।