गंगा दशहरा 2022 : आज है गंगा दशहरा, जाने शुभ मुहूर्त और पूजन की विधि

यह त्योहार हिन्दू पंचांग (कैलेंडर) के अनुसार, प्रतिवर्ष ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन गंगा जी में डुबकी लगाने से सारे पाप धुल जाते है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। गंगा दशहरा को गंगा गंगावतार / जेठ का दशहरा के रूप में भी जाना जाता है और इस वर्ष, यह गुरुवार, 9 जून, 2022 यानि कि आज मनाया जा रहा है। यह गंगा नदी के सम्मान में मनाया जाता है। शास्त्रों के अनुसार, इस दिन धरती पर मां गंगा अवतरित हुई थीं, जिन्होंने राजा भगीरथ के पूर्वजों का उद्धार किया, जिससे उन्हें मोक्ष की प्राप्ति हुई।

यह त्योहार हिन्दू पंचांग (कैलेंडर) के अनुसार, प्रतिवर्ष ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। मान्यता है कि इस दिन गंगा जी में डुबकी लगाने से सारे पाप धुल जाते है।

ये भी पढ़े … कांग्रेस ने मेयर पद के लिए 8 नामों की घोषणा की, ग्वालियर सीट पर छिड़ा विवाद

गंगा दशहरा पर स्नान-दान का शुभ मुहूर्त

गंगा दशहरा की दशमी तिथि गुरुवार, 9 जून 2022 को सुबह 8 बजकर 23 मिनट से लेकर शुक्रवार, 10 जून को सुबह 7 बजकर 27 मिनट तक रहेगी। इस बीच शुभ घड़ी में आप किसी भी समय आस्था की डुबकी लगा सकते हैं और गंगा मां की पूजा कर सकते है। यदि आप गंगा घाट पर जाकर स्नान करने में असमर्थ है तो घर पर ही पानी में गंगाजल मिलाकर स्नान कर सकते हैं।

पूजन की विधि

गंगा दशहरा के दिन शुभ मुहूर्त में गंगा स्नान कर सूर्य भगवान को अर्घ्य दें और अर्घ्य देते समय मां गंगा के मंत्र- ‘ॐ नमो गंगायै विश्वरूपिण्यै नारायण्यै नमो नमः’ का जाप करे। इसके साथ ही एक पान के पत्ते पर फूल और अक्षत लेकर के जल में प्रवाहित करना चाहिए।