नवरात्रि के चौथे दिन विधि-विधान से करें माता कूष्मांडा की पूजा, इस रंग का फूल देवी को करेगा प्रसन्न

Diksha Bhanupriy
Published on -
Navratri

Navratri 2023: 9 दिवसीय नवरात्रि उत्सव में आज चौथे दिन मां दुर्गा के चतुर्थ स्वरूप मां कूष्मांडा की पूजन अर्चन की जाएगी। ऐसा कहा जाता है कि अष्टभुजाओं वाली कूष्मांडा देवी की पूजन अर्चन करने वाले साधक को जीवन में खूब सफलता मिलती है और उसकी सारी मनोकामनाएं पूरी होती है। माता अपने भक्तों को यश, बुद्धि और विवेक का आशीर्वाद देती हैं।

धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक माता कूष्मांडा का पूजन अर्चन करने वाले जातक के जीवन में चल रहे सभी कष्टों की समाप्ति होती है। कूष्मांडा देवी में सूर्य के समान तेज होता है और इनकी पूजन अर्चन करने वाले जातक का जीवन भी सूर्य के समान चमचमाता है। चलिए आज आपको माता कूष्मांडा को प्रसन्न करने के लिए पूजन विधि और मंत्र की जानकारी देते हैं।

Continue Reading

About Author
Diksha Bhanupriy

Diksha Bhanupriy

"पत्रकारिता का मुख्य काम है, लोकहित की महत्वपूर्ण जानकारी जुटाना और उस जानकारी को संदर्भ के साथ इस तरह रखना कि हम उसका इस्तेमाल मनुष्य की स्थिति सुधारने में कर सकें।” इसी उद्देश्य के साथ मैं पिछले 10 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में काम कर रही हूं। मुझे डिजिटल से लेकर इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का अनुभव है। मैं कॉपी राइटिंग, वेब कॉन्टेंट राइटिंग करना जानती हूं। मेरे पसंदीदा विषय दैनिक अपडेट, मनोरंजन और जीवनशैली समेत अन्य विषयों से संबंधित है।