नसरुल्लागंज थाना प्रभारी सहित एएसआई और दो आरक्षक लाइन अटैच

1386

सीहोर। अनुराग शर्मा।

सीहोर ऑडियो वायरल विवाद में जिला पुलिस अधीक्षक ने नसरुल्लागंज थाना प्रभारी पंकज दीवान एएसआई नंदराम अहिरवार एवं आरक्षक रितेश और योगेश को बुधवार देर रात को लाइन अटैच किया वहीं नसरुल्लागंज थाने की कमान सीहोर मंडी टीआई शिशिदास को सौंपी है और उन्हें तत्काल ज्वाइन करने का निर्देश दिया गया है नसरुल्लागंज थाना प्रभारी पंकज दीवान का एक ऑडियो तेजी से के साथ वायरल हो रहा था जिसमें उन्होंने प्रधान आरक्षक से बात करते हुए रेत से भरे डंपर को थाने नहीं लाने एवं तत्काल थाने आने के लिए कहा गया था और उसके बाद उन्होंने प्रधान आरक्षक को निलंबित किए जाने के निर्देश दिए थे

सीहोर मध्यप्रदेश। प्रदेश में अवैध रेत के कारोबार को लेकर मंत्रियों,आला प्रशासिक अधिकारी के बाद अब थाना स्तर तक के पुलिस अफसरों में विवाद हो रहा है। मामल यूं बताया जाता है कि सीहोर जिले के नसरुल्लागंज पुलिस थाने में पदस्थ टीआई और एएसआई के रेत डंपर रोकने न रोकने को लेकर चल रहे विवाद में प्रधान आरक्षक की बली चढा दी गई है। टीआई और प्रधान आरक्षक की बातचीत का आडियो वायरल हो रहा है। जिससे सोशल मीडिया पर जमकर शेयर किया जा रहा है। इस विवाद ने एक बार फिर अवैध रेत के मामले में मप्र सरकार की किरकिरी करवा दी है।

जानकारी के अनुसार नसरुल्लागंज पुलिस थाने में पदस्थ एएसआई नंदराम अहिरवार आधी रात के बाद रेत के डंपर रोकने प्रधान आरक्षक अमरचन्द शर्मा को साथ लेकर पहुंचा था। प्रधान आरक्षक ने एएसआई नंदराम अहिरवार के आदेश पर रेत से भरे डंपर को रोकना शुरू कर दिया। इसकी सूचना टीआई पकंज दीवान को किसी ने फोन पर दी। टीआई पकंज दीवान ने प्रधान आरक्षक अमरचन्द शर्मा को फोन लगाकर बात की। जिसमें टीआई ने प्रधान आरक्षक अमरचन्द शर्मा से पूछा कहॉं हो..जबाव मिला एएसआई नंदराम अहिरवार के आदेश पर उनके साथ डंपर राकने आया हूं, टीआई ने पूछा कोई रिपोर्ट मिली थी क्या? जबाव मिला नहीं सर,। टाआई ने प्रधान आरक्षक अमरचन्द शर्मा से कहा कि तुमने शराब पीकर लोगों से गलत व्यवहार किया है.. प्रधान आरक्षक ने जबाव दिया कि नहीं सर मैंने शराब नहीं पी है और किसी से गलत बात भी नहीं की है। इस बार प्रधान आरक्षक टीआई पंकज दीवान से सवाल किया कि क्या सर पकडे वाहनों लेकर थाने आ जाए..। कुछ देर चुप रहने के बाद टीआई ने कहा हॉं आ जाओं..। इस बातचीत का आडियो वायरल होने के बाद पुलिस विभाग ने प्रधान आरक्षक अमरचन्द शर्मा को निलंबित कर जांच एसडीओपी को सौंप दी है।

मामला सीधे तौर पर अवैध रेत वसूली का…

यह मामला सीधे तौरपर अवैध रेत वसूली का है। नसरुल्लागंज थाना क्षेत्र रोज कई संख्या में रेत से भरे डंपर निकलते हैं जिसमें वैध और अवैध रेत परिवहन की जाती है। अवैध रेत परिवहन करने वाले डंपरों से वसूली की जाती है। इस वसूली पर कई बार विवाद होता है। पुलिस थाने में इस तरह के कई ममाले में हुए है और चर्चा में है। इस विवाद की जड भी टीआई और एएसआई के बीच अवैध रेत ही है।

-पहले से विवादित है एएसआई नंदराम अहिरवार

एएसआई नंदराम अहिरवार पहले से बहुत विवादित है। बताया जाता है कि एएसआई नंदराम अहिरवार का अक्सर अपने आला अधिकारियों से विवाद होता रहता है। विवाद का कारण सर्वजानिक है जिसे पुलिस महकमा भी जानता है। एएसआई नंदराम अहिरवार जिस भी थाने में पदस्थ रहे वहां वे विवादित होकर ही अन्य थाने में भेजें गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here