पीसीबी के पूर्व चेयरमैन का बड़ा बयान, कहा – बीजेपी के इशारे पर चल रहा विश्व का सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के पूर्व अध्यक्ष एहसान मनी का भारत-पाकिस्तान क्रिकेट को लेकर एक बड़ा बयान सामने आया है। एहसान ने आरोप लगाया है कि बीसीसीआई को इस वक्त भारत की केंद्रीय सरकार चला रही है। अगर दोनों देशों में क्रिकेट होना है, तो यह दोनों देशों की आपसी सहमति से ही संभव है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के पूर्व अध्यक्ष एहसान मनी का भारत-पाकिस्तान क्रिकेट को लेकर एक बड़ा बयान सामने आया है। एहसान ने आरोप लगाया है कि बीसीसीआई को इस वक्त भारत की केंद्रीय सरकार चला रही है। अगर दोनों देशों में क्रिकेट होना है, तो यह दोनों देशों की आपसी सहमति से ही संभव है।

उन्होंने कहा, “मैंने पहले भी कई बार कहा है कि अगर वो खेलना चाहते हैं, तो उन्हें आगे आना होगा। मैंने कभी भी भारत-पाकिस्तान मैच के लिए मना नहीं किया, लेकिन हमारा भी कुछ आत्मसम्मान है। हम ही भारत के पीछे क्यों भागे? अगर वो तैयार होंगे, तो हम भी तैयार हो जाएंगे।”

क्रिकेट पाकिस्तान से बात करते हुए एहसान ने कहा कि बीसीसीआई के अध्यक्ष भले ही सौरव गांगुली हों, लेकिन क्या आपको पता है कि बोर्ड का सचिव कौन है? भारत के गृह मंत्री अमित शाह के बेटे जय शाह और एक दूसरे मंत्री के भाई वहां के ट्रेजरर हैं। बीसीसीआई का असली कंट्रोल बीजेपी की सरकार के पास है और वही बोर्ड को चलाती है।

इससे पहले पीसीबी के मौजूदा चेयरमैन रमीज राजा भी लगातार इस विषय पर अपनी सहमति जता चुके है कि दोनों देशों के बीच क्रिकेट होनी चाहिए। हाल ही में रमीज राजा ने आईसीसी को एक प्रस्ताव दिया था, जिसमें भारत-पाकिस्तान-इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच टी-20 टूर्नामेंट करवाने की बात कही थी, लेकिन आईसीसी ने उनके इस प्रस्ताव को सिरे से नकार दिया था।

बता दे, इससे पहले भारत और पाकिस्तान के बीच आखिरी द्विपक्षीय सीरीज 2012 में खेली गई थी, जहां पाकिस्तान की टीम 3 वन-डे और इतने ही टी-20 खेलने भारत के दौरे पर आई थी। उसके बाद से यह हाई वोल्टेज ड्रामा आईसीसी टूर्नामेंट्स या फिर एशिया कप में ही देखने को मिलता है।