भारतीय टीम के लिए राहत की खबर, इंग्लैंड का ये अनुभवी खिलाड़ी पूरे टेस्ट सीरीज से हुआ बाहर

भारत और इंग्लैंड टेस्ट सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। वहीं तीसरा मुकाबला 15 फरवरी को खेला जाएगा। वहीं मुकाबले से 4 दिन पहले भारत के लिए राहत की खबर सामने आई है कि अनुभवी खिलाड़ी बाहर हो गए हैं।

Jack Leach

Ind vs Eng Test Series: भारत और इंग्लैंड के बीच 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेली जा रही है। जिसका तीसरा मुकाबला 15 फरवरी से राजकोट स्टेडियम में खेला जाएगा। वहीं इसी बीच एक बड़ी खबर सामने आई है, जोकि भारत के लिए राहत की खबर है। इंग्लैंड का दिग्गज खिलाड़ी पूरे सीरीज से बाहर हो गया है। जिससे इंग्लैंड की टीम को भारी नुकसान हो सकता है। आइए जानते हैं विस्तार से…

पूरे सीरीज से बाहर हुआ यह दिग्गज गेंदबाज

भारत और इंग्लैंड टेस्ट सीरीज में 1-1 की बराबरी पर हैं। वहीं तीसरा मुकाबला 15 फरवरी को खेला जाएगा। वहीं मुकाबले से 4 दिन पहले भारत के लिए राहत की खबर सामने आई है कि अनुभवी स्पिन गेंदबाज जैक लीच पूरे सीरीज से बाहर हो गए हैं। हालांकि जैक लीच पहला टेस्ट मुकाबला ही खेल पाए थे। दूसरे मुकाबले में इंजरी के चलते बाहर हो गए थे। वहीं इंजरी से उबर न पाने के कारण अब पूरे सीरीज से बाहर हो गए हैं। आपको बता दें जैक लीच ने पहले टेस्ट मुकाबले में 2 विकेट चटकाए थे।

ये रहा इंग्लैंड का स्क्वॉड

ज़ैक क्रॉली, बेन डकेट, ऑली पोप, बेन फोक्स (विकेटकीपर), जॉनी बेयरस्टो, जो रूट, डैन लॉरेन्स, बेन स्टोक्स (कप्तान), रेहान अहमद, शोएब बशीर, टॉम हार्टले, जेम्स एंडर, ओली रॉबिन्सन, मार्क वुड और गस अटकिन्सन खिलाड़ी शामिल हैं।

 


About Author
Shashank Baranwal

Shashank Baranwal

पत्रकारिता उन चुनिंदा पेशों में से है जो समाज को सार्थक रूप देने में सक्षम है। पत्रकार जितना ज्यादा अपने काम के प्रति ईमानदार होगा पत्रकारिता उतनी ही ज्यादा प्रखर और प्रभावकारी होगी। पत्रकारिता एक ऐसा क्षेत्र है जिसके जरिये हम मज़लूमों, शोषितों या वो लोग जो हाशिये पर है उनकी आवाज आसानी से उठा सकते हैं। पत्रकार समाज मे उतनी ही अहम भूमिका निभाता है जितना एक साहित्यकार, समाज विचारक। ये तीनों ही पुराने पूर्वाग्रह को तोड़ते हैं और अवचेतन समाज में चेतना जागृत करने का काम करते हैं। मशहूर शायर अकबर इलाहाबादी ने अपने इस शेर में बहुत सही तरीके से पत्रकारिता की भूमिका की बात कही है– खींचो न कमानों को न तलवार निकालो जब तोप मुक़ाबिल हो तो अख़बार निकालो मैं भी एक कलम का सिपाही हूँ और पत्रकारिता से जुड़ा हुआ हूँ। मुझे साहित्य में भी रुचि है । मैं एक समतामूलक समाज बनाने के लिये तत्पर हूँ।

Other Latest News