पूर्व पाकिस्तानी कप्तान ने की मोहम्मद अजहरुद्दीन की तारीफ, कहा- उन्होंने टीम को बनाया

सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण भारत का प्रतिनिधितित्व करने वाले सबसे महान खिलाड़ियों में से एक हैं।

खेल, डेस्क रिपोर्ट। एशिया कप 2022 में भारत और पाकिस्तान के बीच रविवार को होने जा रहे महामुकाबले से पहले दोनों देशों के पूर्व दिग्गज खिलाड़ी इस पुरानी प्रतिद्वंदिता पर अपने-अपने विचार रख रहे हैं। सभी इससे जुड़े किस्से शेयर कर रहे हैं। इसी कड़ी में पड़ोसी मुल्क के पूर्व कप्तान राशीद लतीफ ने पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन की तारीफ की है।

राशिद लतीफ के अनुसार, ” सचिन, सौरव, राहुल और लक्ष्मण उन सभी को आकार देने का श्रेय पूर्व भारतीय कप्तान मोहम्मद अजहरुद्दीन को जाना चाहिए। चारों ने अपने शुरुआती साल अजहर के नेतृत्व में खेले और टीम इंडिया में खुद को नियमित रूप से स्थापित किया।”

हालांकि, इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्मण भारत का प्रतिनिधितित्व करने वाले सबसे महान खिलाड़ियों में से एक हैं। ‘फैब फोर’ ने 90 के दशक से लेकर 2000 के दशक के ज्यादातर समय तक भारतीय बल्लेबाजी क्रम को मजबूत बनाया। द्रविड़ नंबर 3 पर, सचिन नंबर 4 पर, गांगुली नंबर 5 पर और लक्ष्मण 6 नंबर पर बल्लेबाजी करते थे। वे मैदान पर हावी रहे और भारत को कई यादगार जीत दिलाई। इतना ही नहीं खेल से संन्यास लेने के बाद भी, वे भारतीय क्रिकेट के विकास में योगदान दे रहे हैं।

ये भी पढ़े … हाई वोल्टेज मुकाबले से पहले बना दोस्ताना माहौल, एक-दूसरे के साथ नजर आए भारत और पाकिस्तान के खिलाड़ी

भले ही सचिन ने 1989 में कृष्णमाचारी श्रीकांत के नेतृत्व में भारत के लिए पदार्पण किया, लेकिन उन्होंने अपने करियर के शुरुआती दौर में अजहरुद्दीन की कप्तानी में काफी क्रिकेट खेला।

राशिद ने आगे कहा, “सचिन को अजहरुद्दीन ने ओपनिंग में प्रमोट किया, जिसके बाद से उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। उन्होंने ओपनिंग में आने से पहले ही बहुत सारे मैच खेले थे, शायद 70 या कुछ ज्यादा। 1989-90 से शुरू होकर, उन्होंने 1994 में अपना पहला एकदिवसीय शतक बनाया। इसका बहुत सारा श्रेय मोहम्मद अजहरुद्दीन को जाता है। उन्हें चार या पांच महान भारतीय खिलाड़ी बनाने का श्रेय जाता है, जिसमें राहुल द्रविड़, सौरव गांगुली और वीवीएस लक्ष्मण शामिल हैं।

गांगुली और द्रविड़ दोनों ने अजहरुद्दीन की कप्तानी में टेस्ट और एकदिवसीय क्रिकेट में पदार्पण किया, जबकि लक्ष्मण ने तेंदुलकर के नेतृत्व में अपना पहला एकदिवसीय मैच खेला, लेकिन टेस्ट में पदार्पण तब किया जब अजहर शीर्ष पर थे। अजहर ने तीन विश्व कप टूर्नामेंट में भारत का नेतृत्व किया, जो अभी भी एक रिकॉर्ड है, लेकिन वह एक भी बार इसे जीतने में नाकाम रहे।

ये भी पढ़े … अमेरिका में भारतीयों पर नस्लीय हमला, 4 महिलाओं के साथ मारपीट

तेंदुलकर के खिलाफ काफी क्रिकेट खेलने वाले लतीफ ने उन्हें क्रिकेट का सबसे महान खिलाड़ी बताया। उन्होंने कहा, “तेंदुलकर खेल के इतिहास में महानतम खिलाड़ियों में से एक हैं। डॉन ब्रैडमैन, विव रिचर्ड्स, सचिन तेंदुलकर, ब्रायन लारा, रिकी पोंटिंग और जैक्स कैलिस अब तक के महानतम खिलाड़ियों में से हैं।”