भारत बनाम इंग्लैंड : कप्तान जसप्रीत बुमराह ने स्टुअर्ट ब्रॉड को लिया आड़े हाथ, कूटे इतने रन

बुमराह ने पहली पारी के 83वें ओवर में स्टुअर्ट ब्रॉड को आड़े हाथों लेते हुए 4 चौके और 2 जड़े। इस ओवर में 29 रन जहां बुमराह के बैट से आए वहीं 5 रन ब्रॉड ने एक्स्ट्रा दिए।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। रोहित शर्मा के कोरोना संक्रमित होने के बाद 5 टेस्ट मैचों की सीरीज के आखिरी एवं निर्णायक मुकाबले में कप्तानी की जिम्मेदारी संभाल रहे जसप्रीत बुमराह ने इतिहास रच दिया है। लेकिन हैरानी आपको यह जानकर होगी कि दुनिया के खतरनाक गेंदबाजों में से एक जसप्रीत बुमराह ने यह वर्ल्ड रिकॉर्ड गेंदबाजी में नहीं बल्कि बल्लेबाजी करते हुए बनाया है, जहां उन्होंने टेस्ट क्रिकेट के दिग्गज गेंदबाज स्टुअर्ट ब्रॉड को एक ही ओवर में 35 रन कूट डाले।

बुमराह ने पहली पारी के 83वें ओवर में स्टुअर्ट ब्रॉड को आड़े हाथों लेते हुए 4 चौके और 2 जड़े। इस ओवर में 29 रन जहां बुमराह के बैट से आए वहीं 5 रन ब्रॉड ने एक्स्ट्रा दिए।

ऐसा रहा ब्रॉड का ओवर –

83.1 ओवर- 4 रन
83.2 ओवर- 5 वाइड
83.2 ओवर- 6 रन+ नो बॉल
83.2 ओवर- 4 रन
83.3 ओवर- 4 रन
83.4 ओवर- 4 रन
83.5 ओवर- 6 रन
83.6 ओवर- 1 रन

अगर 5 रन एक्स्ट्रा निकाल भी दे तो टेस्ट क्रिकेट के एक ही ओवर में बल्ले से सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड बुमराह के नाम हो गया है। इससे पहले ये रिकॉर्ड दिग्गज ब्रायन लारा के नाम था, जिन्होंने 2003 में जोहानिसबर्ग के मैदान पर साउथ अफ्रीकी गेंदबाज रॉबिन पीटरसन के ओवर से 28 रन निकाले थे।

ये भी पढ़े … कोर्ट में पेशी के दौरान कन्हैयालाल के हत्यारों पर आक्रोशित भीड़ ने बोला हमला, Video

टेस्ट क्रिकेट के एक ओवर में सबसे ज्यादा रन

35 जसप्रीत बुमराह vs स्टुअर्ट ब्रॉड बर्मिंघम 2022 *
28 ब्रायन लारा vs आर पीटरसन जोहानिसबर्ग 2003
28 जॉर्ज बेली vs जेम्स एंडरसन पर्थ 2013
28 केशव महाराज vs जो रूट पोर्ट एलिजाबेथ 2020

आपको बता दे, ये पहली बार नहीं है जब दुनिया के खतरनाक गेंदबाजों में से एक स्टुअर्ट ब्रॉड पर भारतीय बल्लेबाज भारी पड़े है। इससे पहले भारतीय बल्लेबाज युवराज सिंह ने 2007 के टी-20 वर्ल्ड कप के दौरान ब्रॉड को 6 छक्के जड़कर 36 रन ठोके थे। इसी के साथ क्रिकेट के तीन फॉर्मेटों में से दो टेस्ट और टी-20 में एक ही ओवर में सबसे ज्यादा रन देने का रिकॉर्ड अब स्टुअर्ट ब्रॉड के नाम हो गया है।

मैच की बात करे तो टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत बेहद ही खराब रही, जहां टीम ने मात्र 98 रन के कुल योग पर पांच विकेट गवां दिए। इसके बाद ऋषभ पंत और रविंद्र जडेजा ने टीम को संभाला और दोनों ने 6 विकेट के लिए 222 रन की साझेदारी कर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। ऋषभ पंत ने जहां मात्र 111 गेंदों पर 20 चौकों और 4 छक्कों की मदद से 146 वहीं जडेजा ने 194 गेंदों पर 13 चौकों की मदद से 104 रन की शतकीय पारी खेली।