Commonwealth Games 2022 : सागर अहलावत ने बॉक्सिंग में भारत के लिए जीता सिल्वर मेडल

सागर ने पहले दौर में शानदार शुरुआत की और पहले राउंड में पांचो जजों ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया।

खेल, डेस्क रिपोर्ट। भारत के हैवीवेट बॉक्सर ने यहां भारत के लिए कॉमनवेल्थ गेम्स की बॉक्सिंग स्पर्धा में भारत के लिए सातवां मेडल जीता। सागर को 92 किग्रा (सुपर हैवीवेट) फाइनल इंग्लैंड के डिलीशियस ओरी से 0-5 से हार का सामना करना पड़ा।

इससे पहले सागर ने सेमीफाइनल में नाइजीरिया के इफेनी ओन्येकवेरे को हराकर फाइनल में में प्रवेश किया था।

मुकाबले की बात करे तो सागर ने पहले दौर में शानदार शुरुआत की और पहले राउंड में पांचो जजों ने उनके पक्ष में फैसला सुनाया। लेकिन तीसरे और चौथे राउंड में वह थोड़े थके हुए नजर आए, जिसका पूरा फायदा उनके विपक्षी ने उठाया। दूसरे दौर में, ओरी ने शानदार वापसी की और आसानी से अंक हासिल करते हुए अपना दबदबा दिखाया। ओरी ने सागर को थका देने के लिए कुछ अद्भुत हुक दिए और इससे उन्हें मैच और स्वर्ण पदक पर मुहर लगाने में मदद मिली।

बता दे, हरियाणा के झज्जर से आने वाले 22 वर्षीय सागर का जन्म एक किसान परिवार हुआ। साल 2015 में दिग्गज बॉक्सर फ्लायड मेवेदर जूनियर और मैनी पैकियाओ बीच हुए बॉक्सिंग मैच जिसे ‘फाइट ऑफ द सेंचुरी’ कहा जाता है, के बारे में अखबार में पढ़कर बॉक्सर बनने का सपना देखने वाले सागर ने मुक्केबाजी करना शुरु किया और साल 2019 के अखिल भारतीय विश्वविद्यालय खेलों में गोल्ड जीत अपने बॉक्सिंग करियर की शुरुआत की, इसके बाद साल 2021 में सीनियर राष्ट्रीय प्रतियोगिता में सिल्वर मेडल पर कब्जा जमाया।

आपको बता दे, बॉक्सिंग में भारत के लिए ये सातवां मेडल है। इससे पहले नीतू, अमित पंघाल और निखत जरीन ने गोल्ड वहीं रोहित टोकास, मोहम्मद हसमुद्दीन और जैस्मिन लंबोरिया ने ब्रॉन्ज मेडल जीता।