सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और मेरे, सबके साथ ऐसा हुआ है…, कोहली की फॉर्म को लेकर गांगुली का बड़ा बयान

बोर्ड के अध्यक्ष पद के रूप में जिम्मेदारी संभालने के बाद गांगुली का सफर बहुत चुनौतीपूर्ण रहा है, जहां उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान भी क्रिकेट को उच्च स्तर पर ले जाने के लिए भरसक प्रयास किया।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। विराट कोहली इस दौरान निश्चित ही खराब दौर का सामना कर रहे है और अब उनकी इस फॉर्म को लेकर भारतीय क्रिकेट के दिग्गजों की राय भी अलग-अलग आ रही है, जहां कोई उनका बचाव कर रहा हो तो वहीं कोई टीम के भविष्य को लेकर उनकी पोजीशन पर सवाल उठा रहा है।

फिलहाल, भारतीय टीम इंग्लैंड के दौरे पर है, जहां टेस्ट और टी-20 सीरीज खत्म होने के बाद भारत वन-डे सीरीज में मेजबानों का सामना कर रही है। इस दौरान पूर्व भारतीय कप्तान और बीसीसीआई के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली भी इंग्लैंड में मौजूद है, जहां उन्हें को ब्रिटिश पार्लियामेंट द्वारा सम्मानित किया गया। सम्मानित होने के बाद गांगुली ने मीडिया से बात कि जहां उन्होंने कहा, “मुझे ब्रिटिश संसद द्वारा एक बंगाली के रूप में सम्मानि त किया गया, इसलिए यह अच्छा एहसास रहा। इसके लिए छह महीने पहले मुझसे संपर्क किया गया था। वे हर साल यह पुरस्कार देते हैं और मुझे मिल गया।”

ये भी पढ़े … पति बिना खाना खाए सो गया तो पत्नी ने की क्रिकेट बैट से पिटाई, आए 15 टांके

कोहली को लेकर ये कहा …

इस दौरान गांगुली ने विराट कोहली की फॉर्म को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, “आप इंटरनेशनल क्रिकेट में उसके रिकॉर्ड देखिए, ये बगैर काबिलियत और क्वालिटी के नहीं होता है। हां, उसका अभी मुश्किल समय चल रहा है। वह यह भी जानते हैं कि वह बड़े खिलाड़ी रहे हैं। वह यह भी जानते हैं कि उनके कद के हिसाब से ये सब ठीक नहीं रहा है।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं कोहली को बेहतर करते देखना चाहता हूं, लेकिन उन्हें ही इन सबसे निकलने का रास्ता खोजना होगा। वो करके दिखाना होगा, जो वह 11-12 सालों से करते आ रहे हैं। यह सिर्फ कोहली ही कर सकते हैं।”

गांगुली ने कहा, “यह सब चीजें क्रिकेट में होती रहती हैं। यह सचिन तेंदुलकर, राहुल द्रविड़ और मेरे साथ भी ऐसा हुआ था। भविष्य में और भी कई खिलाड़ियों के साथ यह होगा। यह खेल का हिस्सा है। बतौर खिलाड़ी आपको सिर्फ मैदान पर जाकर प्रदर्शन करना होता है।”

ये भी पढ़े … आज लॉटरी के जरिए होगा स्कूलों का आवंटन, 23 जुलाई तक प्रवेश, जाने नई अपडेट

अपने कार्यकाल को लेकर कही ये बात

बोर्ड के अध्यक्ष पद के रूप में जिम्मेदारी संभालने के बाद गांगुली का सफर बहुत चुनौतीपूर्ण रहा है, जहां उन्होंने कोरोना महामारी के दौरान भी क्रिकेट को उच्च स्तर पर ले जाने के लिए भरसक प्रयास किया।

अपने कार्यकाल पर गांगुली ने कहा, “यह काफी चुनौतीपूर्ण रहा, क्योंकि इससे पहले किसी ने कोरोना नहीं देखा था। इसने पूरी दुनिया को रोक दिया था, लेकिन फिर भी हम क्रिकेट को आगे लाने में कामयाब हुए, क्योंकि आप जानते हैं कि प्रसारण के काम लगातार चल रहे हैं।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं कभी भी खेल और पैसे को बराबर नहीं रखता। मगर बेहतर सुविधाओं के लिए धन जरूरी भी है। भारतीय क्रिकेट मजबूत स्थिति में है। जब हम खत्म (कार्यकाल) करेंगे, तो कोई दूसरा आएगा, जो भारतीय क्रिकेट को आगे ले जाएगा। खेल को आगे बढ़ाने का काम खिलाड़ी और अधिकारी ही करते हैं।”