जून 2022 तक बनकर तैयार होगा देश का पहला दिव्यांग स्टेडियम, ये होगी खासियत

केंद्रीय मंत्री वीरेन्द्र कुमार ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि दिव्यांग खेल परिसर में गुणवत्ता के साथ कोई समझौता न हो

ग्वालियर, अतुल सक्सेना।  ग्वालियर में तैयार हो रहे देश के पहले दिव्यांग स्टेडियम(Divyang Stadium) (खेल परिसर) की प्रगति को  देखने केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री वीरेन्द्र कुमार  (Union Minister of Social Justice and Empowerment Virendra Kumar) रविवार को ग्वालियर आये।  उन्होंने निर्माणाधीन दिव्यांग स्टेडियम (खेल परिसर) को देखने के बाद अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण हर हाल में जून 2022 तक पूरा हो जाना चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि दिव्यांग खेल परिसर में गुणवत्ता के साथ कोई समझौता न हो साथ ही सभी कार्य अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप पूरे कराए जाएँ।

केन्द्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री  वीरेन्द्र कुमार ने रविवार को ग्वालियर पहुँचकर गोले का मंदिर, मुरैना लिंक रोड़ पर शर्मा फार्म हाउस के पास तैयार हो रहे दिव्यांग स्टेडियम (खेल परिसर) का निरीक्षण किया। साथ ही संबंधित अधिकारियों की बैठक लेकर दिव्यांग खेल परिसर के सभी कार्यों की बारीकी से समीक्षा की। केंद्रीय मंत्री वीरेन्द्र कुमार ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि दिव्यांग खेल परिसर में गुणवत्ता के साथ कोई समझौता न हो। साथ ही सभी कार्य अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप पूर्ण कराए जाएँ। इस अवसर पर भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी व  हरीश मेवाफरोश सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण एवं संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय राजीव सिंह सहित दिव्यांग खेल परिसर के निर्माण से जुड़े विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

ये भी पढ़ें – आयुध निर्माणियों का संचालन अब ओएफबी के स्थान पर निगम करेगा, विरोध शुरू

140 करोड़ की लागत से बनेगा स्टेडियम 

गौरतलब है कि भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय ने ग्वालियर में दिव्यांग खेल परिसर के निर्माण के लिए लगभग 140 करोड़ रूपए की राशि मंजूर की है। लगभग 35 एकड़ में यह निर्माण कार्य किया जा रहा है। इसमें से 17 एकड़ परिसर में दिव्यांगों के लिए इनडोर व आउटडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स, एक्वाटिक सेंटर एवं 106 दिव्यांग बालिकाओं व 106 दिव्यांग बालकों के लिए अलग-अलग छात्रावास भवन तथा डायनिंग हॉल सहित अन्य निर्माण कार्य कराए जा रहे हैं। साथ ही फिटनेस सेंटर, योगा सेंटर, फिजियोथैरेपी सेंटर, फिजियोलॉजी सेंटर, न्यूट्रीशनल सेंटर व स्पोर्ट्स साईंस सेंटर का निर्माण भी हो रहा है।

ये भी पढ़ें – BJP में शामिल नेता का Audio Viral, विधायक की टिकट और मंत्री बनने की शर्त पर की पार्टी ज्वाइन

इनडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में होंगी ये सुविधाएँ 

इनडोर स्पोर्ट्स कॉप्लेक्स में तीन बैडमिंटन कोर्ट, चार-चार फैंसिंग व टेबल टेनिस कोर्ट तथा एक-एक सिटिंग वॉलीबॉल, व्हीलचेर बास्केट बॉल, व्हीलचेयर रग्बी, फुटबॉल फाइव ए साइड, गोलबॉल, जूडो व ताईक्वांडो का एक-एक कोर्ट, तीन बोक्सिया कोर्ट तथा 250 वर्ग मीटर का पैराडांस कोर्ट, पैरापॉवर लिफ्टिंग, चार लेन का इनडोर रनिंग ट्रैक एवं 400 स्क्वॉयर मीटर का फिटनेस सेंटर बनाया जा रहा है। साथ ही ओलंपिक साईज अर्थात 25 मीटर X 50 मीटर का स्वीमिंग पूल और 25 X 17 मीटर का प्रैक्टिस पूल का निर्माण भी किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें – MP School : निजी स्कूलों का बड़ा फैसला, बच्चों से ली जाएगी आधी फीस, जाने डिटेल्स

आउटडोर स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में होंगी ये सुविधाएँ 

दिव्यांग स्टेडियम परिसर में आउटडोर खेल सुविधाओं के रूप में एथिलेटिक्स के लिए 400 मीटर की आठ लेन का स्टेण्डर्ड ट्रैक सहित सभी तरह के इवेन्ट के लिए 10 लेन का 100 मीटर चौड़ा स्ट्रेट ट्रैक का निर्माण भी किया जा रहा है। इसके अलावा एक फुटबॉल व एक आर्चरी कोर्ट, दो टेनिस कोर्ट, 7 ए साइड फुटबॉल के लिए एक कोर्ट व 6 हजार व्यक्तियों की बैठक क्षमता वाला स्पेक्टेटर स्टेण्ड व एक हजार व्यक्तियों के लिये कवर्ड सिटिंग स्टेण्ड भी बनाया जा रहा है।

जून 2022 तक बनकर तैयार होगा देश का पहला दिव्यांग स्टेडियम, ये होगी खासियत जून 2022 तक बनकर तैयार होगा देश का पहला दिव्यांग स्टेडियम, ये होगी खासियत