इटारसी के विवेक सागर ने ओलिंपिक हॉकी मुकाबले में अर्जेंटीना के खिलाफ दागा गोल, भारत 3-1 से जीता, क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की

दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। टोक्यो ओलिंपिक में गुरुवार का दिन मध्य प्रदेश के लिए बेहद अहम रहा।  गुरुवार को हुए हॉकी के मुकाबले में भारत ने अर्जेंटीना को हराकर क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की कर ली। इस अहम मुकाबले में मध्य प्रदेश के होशंगाबाद जिले से  इटारसी के विवेक सागर का खास योगदान रहा। विवेक सागर ने ओलिंपिक में अर्जेंटीना के खिलाफ एक शानदार गोल दागा जिससे भारत 3-1 से जीता। विवेक के ओलिंपिक में गोल दागते ही इटारसी में लोगों ने खूब जश्न मनाया।

खरगोन: घूमते- फिरते पाकिस्तान जा पहुंचा था ये शख्स, पांच महीने बाद सुरक्षित लौटा अपने घर

टोक्यो ओलिंपिक में गुरुवार का दिन विवेक सागर के नाम रहा। अर्जेंटीना से मुकाबले में भारतीय हॉकी टीम को हर हाल में जीत की दरकार थी और विवेक ने अपने शानदार प्रदर्शन से जिले और प्रदेश को गौरवान्वित कर दिया। टोक्यो ओलिंपिक में सुबह 6 बजे से जैसे ही अर्जेंटीना और भारत के बीच मुकाबला शुरू हुआ, भारतीय टीम ने दबदबा बनाकर 3 गोल कर दिए। विवेक सागर ने भारतीय टीम की ओर से गोल दागकर देश की जीत सुनिश्चित कर दी।

पूल ए के अपने मैच में अर्जेंटीना के खिलाफ 3-1 से भारत की ये  4 मैचों में तीसरी जीत है और वो 9 अंकों के साथ अपने पूल में दूसरे स्थान पर बना हुआ ।

पहले दो क्वॉर्टर में नहीं हुआ कोई गोल

अर्जेंटीना के खिलाफ भारत का ये मुकाबला बेहद कड़ा रहा। हालांकि भारतीय टीम ने शुरुआत से ही आक्रामक हॉकी का खेल दिखाया और वर्तमान चैंपियन पर हावी रही। पहले क्वार्टर में दोनों टीमों की ओर से कोई गोल नहीं किया गया, लेकिन भारत ने गोल करने के तीन मौके जरूर बनाए। भारतीय टीम ने हालांकि पहले क्वार्टर की तरह दूसरे क्वार्टर में भी गोल करने के मौके बनाए, लेकिन उसे कोई कामयाबी नहीं मिली और हाफ टाइम तक मैच का स्कोर 0-0 ही रहा।

तीसरे क्वॉर्टर के अंतिम मिनटों में वरुण कुमार ने दिलाई बढ़त

तीसरे क्वॉर्टर के दौरान 43वें मिनट में भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला। वरुण कुमार ने इसे गोल में तब्दील कर टीम इंडिया को अर्जेंटीना पर 1-0 की बढ़त दिल दी। इससे पहले 41वें मिनट में भारत को इस मैच का अपना पहला पेनल्टी कॉर्नर मिला था, लेकिन रुपिंदर पाल सिंह इसमें गोल करने में नाकाम रहे।

अर्जेंटीना ने भारत के खिलाफ चौथे क्वार्टर में शानदार वापसी की और 47वें मिनट में मिले पेनल्टी कॉर्नर को गोल में बदलकर मैच को 1-1 की बराबरी पर ला दिया। अर्जेंटीना की ओर से माइको कसेला ने ये गोल दागा।

अंतिम तीन मिनटों में भारत ने पलटा मैच का पासा

मैच खत्म होने में सिर्फ तीन मिनट का वक्त बाकी था और भारत का अर्जेंटीना के खिलाफ ये मुकाबला ड्रॉ की ओर बढ़ता दिखाई दे रहा था। लेकिन विवेक सागर प्रसाद के शानदार गोल के दम पर भारत ने 2-1 की बढ़त बना ली। इसके बाद मैच के अंतिम पलों में मिले पेनल्टी कॉर्नर को हरमनप्रीत सिंह ने गोल में तब्दील कर भारत को इस मैच में 3-1 की निर्णायक बढ़त दिल दी। इस जीत के साथ ही अब भारत का अगले दौर में पहुंचना पूरी तरह से तय है।

आरक्षण को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, OBC-EWS के छात्रों को मिलेगा लाभ 

वही टोक्यो ओलंपिक्स  में हाॅकी टीम में मप्र का प्रतिनिधित्व करनेवाले सागर का ओलिंपिक में यह पहला गोल है। इस जीत के साथ ही क्वार्टर फाइनल में जगह पक्की हो जाने से सागर के लिए यह यादगार पल बन गया है।

विवेक सागर प्रसाद ने ओलिंपिक तक का यह सफर इटारसी के पास के छोटे से गांव चांदौन से शुरू किया। उन्होंने अनेक नेशनल और इंटरनेशनल लेबल की प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया और लगातार अच्छे प्रदर्शन के बल पर भारतीय टीम में अपना स्थान बनाया था। अंतरराष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) द्वारा भी 2019 के लिए विवेक सागर को राइजिंग स्टार ऑफ द ईयर चुना गया था।