अब ऐप परमीशन्स को नहीं दिखाएगा गूगल प्ले

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। गूगल अब उन अनुमतियों को नहीं दिखाएगा, जो प्ले स्टोर पर मौजूद ऐप द्वारा ऑटोमेटिकली मांगी जाती है।

डेवलपर्स के पास अपने ऐप के लिए डेटा गोपनीयता (Data Privacy) फॉर्म भरने के लिए 20 जुलाई तक का समय है। इस दौरान उन्हें अपने ऐप्स के लिए अकेले जिम्मेदारी लेते हुए घोषणा पत्र भरना होगा।

इस पर गूगल का बयान आया है कि ऐप की घोषणा और उसके काम में अगर अंतर पाया जाता है तो वह स्वतंत्र रूप से उन पर एक्शन ले सकता है, जिसमें प्रवर्तन कार्रवाई भी शामिल है।

जानकारी के मुताबिक, गूगल प्ले स्टोर के नए डेटा सुरक्षा अनुभाग में नीति परिवर्तन देखा गया है, जो कि ऐप्पल आइओस 14 के समान है। यह डेवलपर द्वारा दी गई गोपनीयता की सूची प्रदर्शित करता है।

गूगल की नई नीति के अनुसार, डेवलपर अब गूगल प्ले पर अपने ऐप की स्टोर सूची में पूर्ण और सटीक घोषणा करने के लिए खुद जिम्मेदार हैं।

उधर, गूगल की तरफ से कहा गया है कि गूगल प्ले सभी नीतिगत आवश्यकताओं के लिए ऐप्स की समीक्षा करता है। हालांकि, गूगल प्ले डेवलपर्स की ओर से यह निर्धारित नहीं कर सकते हैं कि वे उपयोगकर्ता डेटा को कैसे संभालते हैं।

इस साल की शुरुआत में गूगल प्ले स्टोर ने एक नया डेटा गोपनीयता सेक्शन लॉन्च किया, जिसके लिए डेवलपर्स को अपने ऐप्स द्वारा एकत्रित की जाने वाली जानकारी का खुलासा करना आवश्यक था।