मोबाइल में है गूगल प्ले स्टोर तो हो जाइए सावधान! एक गलती और हो सकता है बैंक बैलेंस कम

एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स में गूगल प्ले के माध्यम से हम प्रतिदिन काम से संबंधित ऐप डाउनलोड करते है, लेकिन इस बीच कई बार इन्हीं ऐप में मॉलवेयर छिपा होता है, जो कभी भी स्मार्टफोन के लिए खतरा बन जाता है और ऐसा ही एक मॉलवेयर फिलहाल गूगल प्ले के 8 ऐप्स में छिपा बैठा है, जिसका नाम है ‘ऑटोलाइकोस’।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। आजकल हम स्मार्टफोन्स के इतना आधीन हो गए है कि इसके बिना कुछ करना ही संभव नहीं हो पा रहा है और दैनिक जिंदगी को आसान बनाने के लिए स्मार्टफोन्स में नए-नए ऐप लाते रहते है। पेमेंट से लेकर डिलीवरी तक, शायद ही कोई ऐसा काम बचा होगा, जिसे हम स्मार्टफोन की मदद से नहीं कर सकते। लेकिन ये इंटरनेट की दुनिया भी बहुत पेचीदा है, यहां एक गलती कभी भी आपका अकाउंट खाली कर सकती है और शायद आजकल कुछ ऐसा ही एंड्रॉयड यूजर्स के साथ हो रहा है, जहां उन्हें पता भी नहीं चल रहा कि उनके अकाउंट पर गूगल प्ले का प्रीमियम एक्टिवेट हो गया है।

दरअसल, एंड्रॉयड स्मार्टफोन्स में गूगल प्ले के माध्यम से हम प्रतिदिन काम से संबंधित ऐप डाउनलोड करते है, लेकिन इस बीच कई बार इन्हीं ऐप में मॉलवेयर छिपा होता है, जो कभी भी स्मार्टफोन के लिए खतरा बन जाता है और ऐसा ही एक मॉलवेयर फिलहाल गूगल प्ले के 8 ऐप्स में छिपा बैठा है, जिसका नाम है ‘ऑटोलाइकोस’। 6 ऐप्स पर गूगल एक्शन ले चुका है, लेकिन 2 मॉलवेयर ऐप्स अभी भी एक्टिव हैं।

ये भी पढ़े … छोटे मगर असरदार नारों से माहौल बना रहे ब्रिटेन में प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार

एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया इन 8 ऐप्स को 30 लाख से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया गया है, जिसका मतलब साफ है कि अभी तक यह 30 लाख से अधिक स्मार्टफोन्स में पहुंच चुका है।

क्यों खतरा बना ‘ऑटोलाइकोस’

रिपोर्ट के मुताबिक, ऑटोलाइकोस सेफ लिंक (URL) से काम करता है, जिससे इसकी गतिविधियों पर किसी की नजर नहीं पड़ती है। इस बीच कई बार मॉलवेयर वाले इन ऐप्स ने एसएमएस के जरिए सिस्टम में घुसने की कोशिश की है।

इस ऐप से सबसे बड़ा खतरा जो सामने आया है, वह यह है कि ऑटोलाइकोस यूजर्स को बिना जानकारी प्रीमियम सर्विस दिला देता है, जिसका पैसा उनके अकाउंट से कट भी जाता है। कुछ यूजर्स को इसका पता बैंक स्टेटमेंट देखने के बाद पता चला है।

किन-किन ऐप्स में ये मॉलवेयर

वलॉग स्टारवीडियो एडिटर

क्रियेटिव 3D लॉन्चर

केली टेक का फनी कैमरा

वाओ ब्यूटी कैर्मरा

जिफ इमोजी कीबोर्ड

मैगजीन

फ्रीग्लो कैमरा 1.0.0

कोको कैमरा वर्जन 1.1

रेजर कीबोर्ड और थीम्स

ये भी पढ़े … इंस्टाग्राम के नए टूल क्रिएटर्स को सब्सक्राइबर्स से बेहतर ढंग से जोड़ेंगे

आपको बता दे, मॉलवेयर को किसी सिस्टम को अवैध रूप से नुकसान पहुंचाने या गैरकानूनी तरह से इस्तेमाल करने के लिए डिजाइन किया गया है। ऑटोलाइकोस से बचने के लिए यूजर्स तुरंत इन ऐप्स को अपने स्मार्टफोन्स से हटाएं।