चाय बेचने वाले शख्स की प्रेरक कहानी, आनंद महिंद्रा ने की तारीफ

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। काम कोई भी छोटा नहीं होता, अगर आप उसे पूरी मेहनत और लगन से करते हैंं तो उसका बेहतर परिणाम निकलता है। हमने ऐसी कितनी कहानियां सुनी हैं जिसमें असंभव लगने वाली परिस्थितियों में लोगों ने अपनी जीजिविषा से जीवन की दिशा बदल दी। ऐसा ही एक किस्सा उद्योगपति आनंद महिंद्रा की ट्विटर वॉल पर शेयर हुआ है।

छोटी स्कर्ट पहन Malaika Arora ने मचाया बवाल, तस्वीर देख बेकाबू हुए फैंस

एक शख्स ने उन्हें ट्वीट करते हुए अपने पिता की कहानी बताई है। सुंदर शेट्टी नाम के इस व्यक्ति ने लिखा है ‘नमस्कार आनंद सर। मेरे पिता ने 1965 में महिंद्रा कांदिवली कारखाने की कैंटीन में एक चाय वाले के रूप में अपना करियर शुरू किया। बाद में उनकी योग्यता को देखते हुए अधिकारी ने उन्हें कारखाने के वेल्डिंग सेक्शन में नौकरी की पेशकश की।’ इस तरह चाय बेचने वाला एक शख्स आज अधिकारी बन चुका है।

आनंद महिद्रा ने  सुंदर शेट्टी की पोस्ट पर जवाब देते हुए उनके पिता की प्रशंसा की है। उन्होने लिखा हैं ‘इतनी देरी से प्रतिक्रिया के लिए क्षमाप्रार्थी हूँ। आपके पिता जैसी कहानियां ही मुझे काम करते रहने के लिए प्रेरित करती हैं। जीवन को बदलने के लिए व्यवसाय की शक्ति ही एकमात्र शक्ति है जो मायने रखती है।’ उनके इस ट्वीट के बाद अब लोगों का ध्यान इस युवक की कहानी पर गया है और बड़ी संख्या में लोग इसपर कमेंट कर रहे हैं। साथ ही आनंद महिंद्रा की भी तारीफ कर रहे हैं कि उन्होने इसपर अपनी बात रखकर उस युवक और उसके पिता की हौसलाअफज़ाई की।