मध्यप्रदेश में लाल मिर्च का बंपर उत्पादन, सस्ती होने के आसार

भोपाल। लाल मिर्च के उत्पादन के मामले में मध्यप्रदेश देश का तीसरा राज्य है। यहां लाल मिर्च का बुआई रकबा बढ़ा है। जिस वजह से लाल मिर्च के दाम गिरने की उम्मीद है। आने वाले हफ्तों में लाल मिर्च के दाम कम हो सकते हैं। बता दें विदेशों में भारत की लाल मिर्च की बहुत डिमांड है। लाल मिर्च भारत से हर साल निर्यात होने वाले मसालों में से एक है। फिलहाल बाजार में लाल मिर्च 90-100 रुपये प्रति किलो के भाव पर बिक रही है।

जानकारों के मुताबिक एमपी में लाल मिर्च की आवक नवंबर के महीने से शुरू होती है। लेकिन इस बार रकबा बढ़ने से बंपर फसल हुई है। और देश भर में आना शुरू हो गई है। मध्य प्रदेश की फसल बाजार में इस महीने पहुंचने लगी है। हालांकि अभी काफी कम आवक है। यह पिछले साल की तुलना में स्थिर और बेहतर है। स्पाइस बोर्ड के आंकड़ों के मुताबिक, मध्य प्रदेश देश में तीसरा सबसे बड़ा मिर्च उत्पादक राज्य बन गया है।यह कर्नाटक से आगे निकल गया है। मध्य प्रदेश में मिर्च का उत्पादन कर्नाटक से 1.3 लाख टन अधिक है।वायरस हमले से उत्पादन में पिछले साल लगभग 12 फीसदी की गिरावट आई थी।

गौरतलब है कि एक साल पहले 2016-17 में मिर्च की फसल में 60 फीसदी की वृद्धि के साथ 24 लाख टन थी। चूंकि कीमतें पिछले साल 50 फीसदी से ज्यादा गिर गईं, इसलिए उत्पादन में गिरावट आई. लेकिन कुल स्टॉक 15 लाख टन के मुकाबले 23 लाख टन से अधिक रहा।

"To get the latest news update download tha app"