पूर्व सांसद की कांग्रेस में 'घर' वापसी की अटकलें जोरो पर

इंदौर। इन दिनों विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस छोड़ भाजपा में आए पूर्व सांसद प्रेमचंद गुड्डू की घर वापसी की अटकलें जोरो पर है। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से बढ़ती नजदीकियों से इन बातों को तेजी से बल मिल रहा है। कयास लगाए जा रहे है कि जल्द ही गुड्डू वापस कांग्रेस में शामिल हो सकते है। बीते दिनों प्रेमचंद गुड्डू परिवार सहित दिग्विजय सिंह से मिलने पहुंचे थे और इस बार दिग्विजय उनके एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने पहुंचे। इतना ही नही कांग्रेस के कई और बड़े नेता गुड्डू के मेहमान बने । वही इन अटकलों से बीजेपी में हलचल तेज हो चली है।

दरअसल,  बुधवार को पूर्व सांसद गुड्डू परिवार द्वारा संचालित इंदौर के बख्तावरराम नगर स्थित कॉलेज में एक समारोह  आयोजित किया गया था। जिसमें  मुख्य अतिथि के तौर पर दिग्विजय सिंह और अन्य कांग्रेस के बड़े नेताओं को आमंत्रित किया गया था। इसमें मशहूर शायर राहत इंदौरी भी शामिल होने पहुंचे थे। मंच पर कांग्रेस नेताओं के साथ गुड्डू भी मौजूद रहे। खास बात ये रही कि कार्यक्रम में वीडियो फिल्म के जरिए दिग्विजय सिंह के परिवार से लेकर उनके मुख्यमंत्री काल की तारीफ में कसीदे पढ़े गए। दावा किया गया कि वह दिग्विजय सिंह की नर्मदा परिक्रमा ही थी, जिससे कांग्रेस की प्रदेश की सत्ता में वापसी हो सकी। जब दिग्विजय सिंह से कार्यक्रम में बाद पूछा गया कि क्या गुड्डू की कांग्रेस में वापसी हो रही है तो सिंह ने कहा कि ये तो गुड्डू जाने। हालांकि कार्यक्रम में अजीत बौरासी की गैरमौजूदगी भी चर्चा का विषय बनी रहे। बताया जा रहा है कि पूरे कार्यक्रम के दौरान वे नजर नही आए।

अटकलों का बाजार इसलिए भी गर्म है क्योंकि बीते एक सप्ताह में यह दिग्विजय और गुड्डू की दूसरी मुलाकात है। इससे पहले इंदौर पहुंचे दिग्विजय सिंह से पूर्व सांसद और भाजपा नेता प्रेमचंद गुड्डू परिवार सहित मिलने पहुंचे थे। इस दौरान दोनों के बीच करीब आधे घंटे तक चर्चा हुई थी।लगातार एक के बाद एक होती मुलाकातों को गुड्डू की घर वापसी से जोड़कर देखा जा रहा है। चर्चा तो यह भी है कि झाबुआ उपचुनाव से पहले गुड्डू की कांग्रेस में घर वापसी हो सकती है। 

बता दें कि विधानसभा चुनाव के दौरान प्रेमचंद गुड्डू ने कांग्रेस का साथ छोड़कर भाजपा की सदस्यता ले ली थी, केंद्रीय मंत्री नरेंद्र तोमर और बीजेपी नेता कैलाश विजयवर्गीय ने दिल्ली में गुड्डू को भाजपा में शामिल कराया था । इसके बाद बीजेपी ने उनके बेटे अजीत बोरासी को भाजपा ने विधानसभा का टिकट भी दिया था, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा । अब चुंकी झाबुआ उपचुनाव नजदीक है, ऐसे में गुड्डू की घर वापसी की अटकलें जोरों पर है।

 

"To get the latest news update download the app"