जीत के लिए इन बीजेपी-कांग्रेस के विधायकों ने खर्च किए सिर्फ 2.50 लाख रुपए

भोपाल। मध्यप्रदेश में चुनावी बिगुल बज चुका है। सभी दल अपने अपने उम्मीदवारों की घोषणा करने में जुट गए हैं। प्रचार प्रसार किस तरह होगा, कितना खर्च करना है इसके लिए चुनाव आयोग ने नियम तय कर दिए हैं। साथ ही चुनाव अभियान में खर्च की जाने वाली रकम भी आयोग द्वारा तय की गई है। पिछले चुनाव की बात की जाए तो बीजेपी और कांग्रेस के कुछ विधायक ऐसे हैं जिन्होंने तय रकम से बहुत कम खर्च कर जीत हासिल की। इनमें बीजेपी और कांग्रेस के विधायक शामिल हैं।

जानकारी के मुताबिक कांग्रेस के विजय सिंह ने भगवानपुरा विधानसभा क्षेत्र में महज 2.38 लाख रुपए अपने 2013 के विधानसभा चुनाव अभियान के तहत खर्ज किए। वहीं, बीजेपी के दीवान सिंह ने पानसेमल सीट पर बीते चुनाव में 2.57 लाख रुपए खर्च किए। बीते चुनाव में इन दोनों विधायकों ने अपने तय खर्च का सिर्फ 15 फीसदी ही उपयोग में लिया। जबकि, 16 लाख रुपए उम्मीदवारों के लिए तय किया गया था। ये आंकड़े इस काफी चौंकाने वाले है क्योंकि इस बार के चुनाव में सीएम शिवराज सिंह चौहान समेत कई उम्मीदवार चुनावी खर्च की तय सीमा बढ़ाने के लिए आयोग से जोर लगा रहे थे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हाल ही में सीईसी ओपी रावत के साथ इस मुद्दे को उठाया। चौहान ने चुनाव आयोग से चुनाव-संबंधित व्यय खाते से कुछ प्रचार सामग्री को बाहर करने के लिए कहा था।

पिछले चुनाव में सीएम ने 63% खर्च किया

सूबे के मुखिया शिवराज सिंह चौहान ने बीते चुनाव में दो विधानसभा सीटों से चुनाव लड़ा था। बधनी सीट पर चौहान ने चुनाव प्रचार के दौरान  10.10 लाख खर्च किया था (तय रकम का 63%)। वहीं, विदिशा सीट पर तय रकम का 61% चौहान ने लगभग 9.77 लाख रुपए खर्च किया था। उम्मीदवारों ये दावा करते रहे हैं कि चुनाव आयोग द्वारा चुनाव-संबंधित व्यय की राशी कम रखी गई है। हालांकि, 230 विधायकों में से 129 विधायकों ने तय रकम का 50 फीसदी ही खर्च किया था।