प्रदेश की 313 नदियों को पुनर्जीवित किया जाएगा, लगाये जायेंगे 7 करोड़ पौधे : शिवराज

भोपाल।

नदी संरक्षण के लिये गत वर्ष नर्मदा सेवा यात्रा निकाली गई थी। पाँच माह 5 दिन तक चली इस यात्रा से लोगों में नदी, जल एवं पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागृति आई है। दो जुलाई 2017 को प्रदेश में 6 करोड़ 63 लाख पौधे लगाये गये, जिनमें से 80 प्रतिशत पौधे जीवित हैं। 15 जुलाई 2018 को पुन: 7 करोड़ पौधे लगाये जायेंगे और प्रदेश की 313 नदियों पर श्रमदान कर उन्हें पुनर्जीवित किया जायेगा।मध्यप्रदेश की जीवनदायनी नर्मदा नदी के साथ 313 नदियों को बचाने के लिए प्रदेश सरकार अप्रैल में जलसंसद भी आयोजित करेगी। होशंगाबाद के बांद्राभान में शुरू हुए पंचम नदी महोत्सव के समापन समारोह में शुक्रवार को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ये घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि तालाबों के पुनर्जीवन का कार्य भी होगा। नर्मदा किनारे 20 जिलों में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का काम शुरू हो गया है। नर्मदा के किनारे के गाँवों में मुक्तिधाम, पूजनकुण्ड और क्षेत्र को नशामुक्त बनाने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सिंचाई संसाधनों में वृद्धि के फलस्वरूप प्रदेश में गेहूँ, चना, उड़द, प्याज, लहसुन आदि का भरपूर उत्पादन हुआ है। इनकी खपत के लिये प्रसंस्करण केन्द्र बनाने पर कार्य किया जा रहा है। चौहान ने कहा कि जैविक खेती का अभियान नर्मदा तट से शुरू किया जा रहा है। महोत्सव के दौरान हुए चिंतन के आधार पर आगे की रणनीति तैयार की जायेगी।