एमपी में 230 विधानसभा सीटों पर 2800 नामांकन, बागियों ने बढ़ाईं बीजेपी-कांग्रेस की मुश्किलें

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अंतिम दिन सभी 230 विधानसभा सीटों पर 2800 नामांकन दाखिल किए गए। बीजेपी ने सभी 230 और कांग्रेस ने 229 सीटों पर नामांकन किया। जबकि अन्य दलों और निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी परचा भरकर रोड शो निकाले। 

जानकारी के मुतिबाक  मुख्य राजनीतिक दल भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और कांग्रेस के द्वारा इंदौर जिले की नौ सीटों पर प्रत्याशियों के नाम की घोषणा करने के साथ ही दोनों दलों के बागियों ने मैदान पकडक़र अपने अपने दलों के लिए मुश्किलें खड़ी करना शुरू कर दिया है। सर्वाधिक महू, इंदौर 1 में बागी प्रत्याशी चुनौती पेश कर रहें हैं। इंदौर ग्रामीण की महू विधानसभा सीट पर कैलाश विजयवर्गीय की जगह उषा ठाकुर को प्रत्याशी घोषित किया गया है। फायर ब्रांड नेत्री ठाकुर वर्तमान में इंदौर-3 से विधायक हैं। उनके नाम की घोषणा के साथ ही महू के स्थानीय भाजपा नेताओं ने विरोध का बिगुल फूंक दिया है। इसी क्रम में ठाकुर का पुतला स्थानीय नेताओं ने फूंका हैं। सुश्री ठाकुर का विरोध करते हुये भाजपा के 5 स्थानीय नेता निर्दलीय चुनाव लड़ने का दावा कर रहें हैं।

राजधानी भोपाल में भी बागियों ने जमकर निर्दलीय नामांकन दाखिल किए। राजधानी भोपाल की सात सीटो पर बीजेपी और कांग्रेस के प्रत्याशियोंं ने नामांकन दाखिल किए। मध्य विधानसभा पर कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने से नाराज नासिर इस्लाम, मुनव्वर कौसर, साजिद अली ने निर्दलीय नामांकन दाखिल किया है। वहीं, उत्तर विधानसभा से पार्षद सऊद ने भी निर्दलीय नामांकन किया है। गोविंदपुरी सीट पर कांग्रेस के प्रबल दावेदार माने जा रहे कांग्रेस नेता रामबाबू शर्मा ने भी निर्दलीय फॉर्म दाखिल किया। गोविंदपुरा से कांग्रेस टिकट के प्रबल दावेदार थे रामबाबू शर्मा ।

सतना में नामांकन दाखिल करने के अंतिम दिन जिले के दो दिग्गज नेताओं ने भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। जिले के वरिष्ठ भाजपा नेता अरुण द्विवेदी अपने सभी पदों का त्याग करते हुए अपना इस्तीफा प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह को भेजा दिया, जबकि दूसरा झटका डॉ. रश्मि सिंह पटेल ने दिया। डॉ. रश्मि ने टिकट वितरण से नाराज होकर नागौद विधानसभा क्षेत्र से बागी प्रत्याशी के रूप में नामांकन दाखिल कर दिया है।