मध्य प्रदेश : इंदौर से इंडिगो की 6 उड़ानें रद्द, दिल्ली और बेंगलुरू के यात्री परेशान

पिछले कुछ दिनों से फ्लाइट्स रद्द होने का सिलसिला जारी है। पिछले हफ्ते भी लगातार इंदौर से ग्वाालियर, जबलपुर, जयपुर और हैदराबाद की उड़ान को निरस्त कर दिया गया था। जानकारी के मुताबिक, जब उड़ान में कम यात्री आते हैं तो उड़ान कंपनियां उस फ्लाइट को रद्द कर देती है और बुकिंग करवा चुके यात्रियों को दूसरी उड़ान में शिफ्ट करने या रिफंड का विकल्प दे देती है।

इंदौर, डेस्क रिपोर्ट। इंदौर के देवी अहिल्यबाई होल्कर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट से बुधवार को इंडिगो एयरलाइंस की छह उड़ानें निरस्त की गई है, जिसमें हैदराबाद, बेंगलुरू और दिल्ली आने जाने वाली उड़ानें शामिल है।

जानकारी के मुताबिक,इंडिगो की उड़ान संख्या छह ई 7271 हर सुबह हैदराबाद से उड़ान भरती है और सुबह 8.05 बजे इंदौर पहुंचती है। बुधवार को इसे रद्द कर दिया गया। इसके अलावा दोपहर में बेंगलुरू और दिल्ली से आने-जाने वाली रात की उड़ान भी रद्द कर दी गई है। हालांकि, एयरलाइंस ने इसके पीछे कोई कारण नहीं बताया है। हालांकि, इसमें टिकट बुक कराने वाले यात्रियों को सूचित कर दिया गया है और साथ ही उन्हें रिफंड और रीबुकिंग का विकल्प दिया गया है।

ये भी पढ़े … आयोग ने जारी किया आयुर्वेद, होम्योपैथी एवं यूनानी चिकित्सा अधिकारी परीक्षा के लिए शुद्धि पत्र, आवेदन फिर से शुरू

बता दे, इन शहरों के लिए दूसरे विकल्प भी मौजूद हैं, जिससे यात्रियों को ज्यादा परेशानी नहीं होगी। इससे पहले भी मंगलवार को इंदौर में दिनभर में 20 से अधिक आने जाने वाली उड़ानें अपने तय समय से एक- एक घंटे देरी से आई और गई थी, जिस कारण यात्रियों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा था।

कुछ दिनों से फ्लाइट रद्द होने का सिलसिला जारी

आपको बता दे पिछले कुछ दिनों से फ्लाइट्स रद्द होने का सिलसिला जारी है। पिछले हफ्ते भी लगातार इंदौर से ग्वाालियर, जबलपुर, जयपुर और हैदराबाद की उड़ान को निरस्त कर दिया गया था। जानकारी के मुताबिक, जब उड़ान में कम यात्री आते हैं तो उड़ान कंपनियां उस फ्लाइट को रद्द कर देती है और बुकिंग करवा चुके यात्रियों को दूसरी उड़ान में शिफ्ट करने या रिफंड का विकल्प दे देती है। आमतौर में क्षमता के 60 प्रतिशत यात्री मिलने पर उड़ान को सफल माना जाता है।

ये भी पढ़े … पुलिस ITI में एडमिशन शुरू, फार्म भरने की आखिरी तारीख 12 जून

इससे पहले एयरपोर्ट पर रन-वे पर के चौड़ीकरण को लेकर चल रहे काम के चलते 10 से भी ज्यादा उड़ानों को बंद कर दिया था।