Corona: यहां एक्टिव केस 7 गुना ज्यादा बढ़े, 96 दिन बाद 400 से अधिक पॉजिटिव

कोरोना की बढ़ती रफ्तार को देख प्रशासन भले ही सख्ती दिखा रहा हो लेकिन आम आदमी कोरोना के प्रति अवेयर नजर नही आ रहा है लिहाजा, जुर्माना लगाने के बावजूद लोग गलतियां कर रहे हैं और सोशल डिस्टेसिंग के मास्क पहनने को लेकर कोताही बरत रहे हैं

mp

इंदौर, आकाश धौलपुरे। मध्यप्रदेश की व्यावसायिक राजधानी इंदौर में कोरोना (Corona) बेतरतीब रफ्तार से कहर बरपा रहा है बावजूद इसके लोग अभी भी कोरोना (Corona) को हल्के में ले रहे हैं।  संक्रमण इतना तेजी से फैल रहा है कि आंकड़े चौंकाने वाले सामने आ रहे है इस बीच खबर ये भी सामने आ रही है कोरोना (Corona) की टेस्टिंग के लिए एमजीएम मेडिकल कॉलेज से करीब 3 हजार सैम्पल जांच के लिये अहमदाबाद भेजे गए है। जिसकी जांच रिपोर्ट आज रात या कल सुबह आ सकती है। इसके बाद कोरोना (Corona) के कुल संक्रमित मामलों में तेजी से उछाल देखने को मिल सकता है।

बढ़ते कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों की संख्या के बीच मंगलवार रात को जारी किये गए मेडिकल बुलेटिन ने चिंता और बढ़ा दी है । इंदौर में करीब 96 दिन बाद 400 से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) आए है। मंगलवार को आर्थिक राजधानी में 477 नए कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) आये हैं  वही प्रदेश में 1500 से ज्यादा संक्रमित पाए गए हैं, दुर्ग में तो कोरोना (Corona) का खासा असर देखा जा रहा है।

ये भी पढ़ें – MP के कांग्रेस विधायक ने PM नरेंद्र मोदी को दिया धन्यवाद, चर्चाओं का बाजार गर्म

इधर, इंदौर में कोरोना (Corona) ने मंगलवार को 2 लोगो की जान ले ली जिसके बाद अब तक कोरोना से जान गंवाने वालो की संख्या 947 तक जा पहुंची है। वही मंगलवार को 411 कोविड मरीज कोरोना (Corona) को मात देकर घर लौट चुके हैं। इसके अलावा एक्टिव मरीजों की संख्या फरवरी माह की तुलना में 7 गुना तक बढ़ गई है। बता दें कि फरवरी महीने में इंदौर में एक्टिव मरीजो की संख्या 280 तक जा पहुंची थी लेकिन कोरोना (Corona) की दूसरी लहर की चपेट में आने के बाद एक बार फिर इंदौर रडार पर है इसी का परिणाम है यहां अस्पतालों और होम आइसोलेशन में इलाजरत मरीजो की संख्या 2240 तक जा पहुंची है।

Corona: यहां एक्टिव केस 7 गुना ज्यादा बढ़े, 96 दिन बाद 400 से अधिक पॉजिटिव

कोरोना (Corona) की बढ़ती रफ्तार को देख प्रशासन भले ही सख्ती दिखा रहा हो लेकिन आम आदमी कोरोना के प्रति अवेयर नजर नही आ रहा है लिहाजा, जुर्माना लगाने के बावजूद लोग गलतियां कर रहे हैं और सोशल डिस्टेसिंग के मास्क पहनने को लेकर कोताही बरत रहे हैं। ऐसे में हम भी आपसे अपील करते है कोरोना को हराना है तो मास्क जरूर लगाना है। वहीं सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान रखने के साथ ही 45 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को गाइडलाइन का पालन कर वैक्सीनेशन करवाना चाहिए क्योंकि वैक्सिनेट हो जाने के बाद वायरस के हमले की रफ्तार कम हो जाती है और जानकार बताते हैं  वैक्सीनेशन के जरिये बहुत हद तक कोरोना पर काबू पाया जा सकता है।