shivraj singh chouhaan

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश में पहली बार अजीम प्रेमजी फाउंडेशन यूनिवर्सिटी खोलेगा। इसके लिए सरकार ने भोपाल के कान्हासैया में 20 हेक्टेयर जमीन देना तय कर लिया है। इसके लिए उच्च शिक्षा विभाग व नगरीय विकास विभाग सहमति दे चुके हैं। मुख्यमंत्री शिवराज से बातचीत के बाद इसके आदेश जारी कर दिए जायेंगे।

दरअसल, कमल नाथ सरकार के समय हुए मैग्निफीसेंट एमपी से ठीक पहले इस प्रोजेक्ट पर अजीज प्रेमजी फाउंडेशन व उच्च शिक्षा विभाग के बीच चर्चा हुई थी। अब इस प्रोजेक्ट पर सहमति बन चुकी हैं।

रायपुर से भोपाल ले आये

पहले यह इस यूनिवर्सिटी को रायपुर में खोलने का विचार था, लेकिन मध्य सरकार में पीएस व 1993 बैच के अधिकारी अनुरुद्ध मुकर्जी ने यूनिवर्सिटी के सीईओ अनुराग बेहार से बात की जो उनके एक बैच जूनियर रहे। उसके बाद उच्च स्तर पर बातचीत करके यूनिवर्सिटी को भोपाल लाने में मदद मिली। यूनिवर्सिटी का काम दिसंबर 2020 में ही शुरू करने का प्रयास किया जा रहा है।

क्या हैं अजीज प्रेमजी फाउंडेशन

विप्रो कंपनी के अध्यक्ष अजीम हाशमी प्रेमजी ने इस फाउंडेशन की 2001 में स्थापना की थी। इस संगठन को भारत में शिक्षा जगत के क्षेत्र में काम करने के लिए शुरू किया गया। यह फाउंडेशन कर्नाटक, उत्तराखंड, राजस्थान, छत्तीसगढ़, पुडुचेरी, आंध्रप्रदेश , बिहार और मध्यप्रदेश में काम करता है। पहले फाउंडेशन मुख्य रूप से प्राथमिक शिक्षा के क्षेत्र में काम कर रहा था, अब उच्च शिक्षा में भी काम शुरू कर दिया है।