Bhopal News: अधिकारियों की रिपोर्ट कार्ड, कुछ रहे पीछे, इन्होंने मारी बाजी

ओवरऑल 60 अंक और सी ग्रेड के साथ राजधानी के सिटी सर्कल एसडीएम जमील खान सबसे आगे रहकर अव्वल रहे हैं।

Bhopal News

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में अधिकारियों के कार्य क्षमता पर अब उन्हें नंबर दिए जा रहे हैं। उनके द्वारा किए गए काम के आधार पर उनके संख्या की गणना की जाती है। ऐसी एक संख्या गणना राजधानी भोपाल (bhopal) में की गई। भोपाल में 8 एसडीएम (SDM) के मासिक रिपोर्ट (report) तैयार की गई है। उनके कार्यों को ग्रेडिंग (Grading) के जरिए दर्शाया गया है।

हालांकि इस ग्रेडिंग में किसी भी अधिकारी को ए और बी ग्रेड नहीं मिले। आठ में से 6 को दिसंबर में किए उनके कार्यो के आधार पर डी ग्रेड दिया गया है। वहीं 2 एसडीएम को सी ग्रेड मिले हैं। बता दें कि यह ग्रेडिंग रिपोर्ट मुख्य रूप से रिवेन्यू रिकवरी टारगेट अचीवमेंट (Revenue recovery target achievement), राजस्व प्रकरण का निराकरण (Disposal of revenue cases) , लंबित प्रकरण और अन्य मानक के आधार पर तैयार किए गए हैं।

Read More: इन विभागों को लेकर सीएम शिवराज का बड़ा फैसला, फिर से शुरू होगी यह योजनाएं

सबसे ज्यादा लंबित मामलों में कोलार एसडीएम और हुजूर एसडीएम को माइनस में अंक प्राप्त हुए। वही ऑफिस हाइजीन के मामले में कोलार एसडीएम सबसे ज्यादा 8 अंकों के साथ टॉप पर रहे। रिवेन्यू रिकवरी के मामले में हुजूर एसडीएम सबसे आगे रहे जबकि ओवरऑल 60 अंक और सी ग्रेड के साथ राजधानी के सिटी सर्कल एसडीएम जमील खान सबसे आगे रहकर अव्वल रहे हैं।

बता दे कि विभिन्न मानकों के आधार पर तैयार किए गए इस रिपोर्ट में कोलार एसडीएम को डी ग्रेड, टीटी नगर एसडीएम को डी ग्रेड, हुजूर एसडीएम को डी ग्रेड, बैरसिया एसडीएम को डी ग्रेड, गोविंदपुर एसटीएमटी ग्रेड बैरागढ़ एसडीएम डी ग्रेड, सिटी सर्कल एसडीएम सी ग्रेड और एमपी नगर के एसडीएम को भी सी ग्रेड प्राप्त हुए हैं।