कांग्रेस को बड़ा झटका, दिग्गज नेता जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल

नई दिल्ली , डेस्क रिपोर्ट। उतरप्रदेश में कांग्रेस के दिग्गज नेता जितिन प्रसाद अब भाजपा में शामिल हो गए हैं।  केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने जितिन प्रसाद को पार्टी की सदयता पर्ची सौंपी और पार्टी में शामिल होने पर बधाई दी। राजनीतिक पंडित ज्योतिरादित्य सिंधिया के बाद दिग्गज नेता जितिन प्रसाद के भाजपा ज्वाइन करने को भाजपा की बड़ी राजनीतिक कामयाबी मान रहे हैं। गौरतलब है कि जितिन प्रसाद कांग्रेस के उन नेताओं में शामिल थे जिन्होंने कांग्रेस संगठन की कार्यशैली पर सवाल उठाये थे।

उत्तरप्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटका देने में भारतीय जनता पार्टी कामयाब हो गई है। उत्तरप्रदेश में कांग्रेस का बड़ा चेहरा, पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद को भारतीय जनता पार्टी ने दिल्ली मुख्यालय में पार्टी की सदस्यता दिलाई।  एक सादे समारोह में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने जितिन प्रसाद को भाजपा में शामिल किया।  उन्हें सदस्यत की पर्ची सौंपी, भाजपा का पटका पहनाया और बुके देकर स्वागत किया। भाजपा ज्वाइन करने से पहले जितिन प्रसाद गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात करने उनके निवास पर भी गए।

कांग्रेस को बड़ा झटका, दिग्गज नेता जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल कांग्रेस को बड़ा झटका, दिग्गज नेता जितिन प्रसाद भाजपा में शामिल

भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने का बाद जितिन प्रसाद ने कहा कि आज देश में यदि वास्तव में संस्था के तौर पर काम करने वाला दल है तो वह भारतीय जनता पार्टी है  बाकी दल तो व्यक्ति विशेष या क्षेत्रीयता तक ही सीमित हैं । पीएम मोदी नए भारत का जो निर्माण कर रहे हैं उसमें मुझे भी छोटा सा योगदान करने का मौका मिलेगा।

मनमोहन सरकार में रहे हैं केंद्रीय मंत्री 

जितिन प्रसाद पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जितेंद्र प्रसाद के पुत्र हैं। 2004 में जितिन प्रसाद ने पहली बार शाहजहांपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ा और जीत हासिल की।  मनमोहन सरकार में उन्हें इस्पात राज्य मंत्री बनाया गया था। इसके बाद उन्होंने धौरहरा सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। इस बार भी जितिन प्रसाद को मनमोहन सरकार में जगह मिली उन्हें पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस, सड़क परिवहन और राजमार्ग  व मानव संसाधन विकास राज्यमंत्री बनाया गया। हालाँकि इसके बाद के दो लोकसभा चुनाव और एक विधानसभा चुनाव में जितिन प्रसाद को हार का मुंह देखना पड़ा।

G – 23 के सदस्य रहे हैं जितिन प्रसाद 

वरिष्ठ नेता जितिन प्रसाद कांग्रेस के उन 23 सदस्यों में शामिल रहे हैं जिन्हें G-23  जाता है।  इनमें वे वरिष्ठ कांग्रेस नेता शामिल है जिन्होंने पपिछले साल कांग्रेस संगठन की कार्यशैली पर सवाल उठाये थे और बदलाव की मांग की थी।  तभी से ऐसे सभी वरिष्ठ नेताओं को पार्टी ने वैसी तबज्जो देना बंद कर दिया था जो उन्हें पहले मिला करती थी।

ब्राह्मणों के बड़े न्ते हैं जितिन प्रसाद    

जितिन प्रसाद की पहचान उत्तरप्रदेश के बड़े ब्राह्मण नेता के तौर पर भी है।  उत्तरप्रदेश में 10 प्रतिशत ब्राह्मण वोट है जिसका लाभ भाजपा को विधानसभा चुनावों में मिल सकता है।   जितिन प्रसाद हमेशा से ब्राह्मणों के हक़ में आवाज उठाते रहे हैं।  हालाँकि उन्हें प्रदेश नेतृत्व से कभी सहयोग नहीं मिला।  जब  उन्होंने ब्रह्म चेतना संवाद कार्यक्रम घोषित किया  तो कांग्रेस पार्टी ने इससे किनारा करते हुए इसे जितिन प्रसाद का निजी कार्यक्रम बताया था।