केंद्र सरकार का बड़ा फैसला, जीवनरक्षक रेमडेसिविर इंजेक्शन के निर्यात पर रोक

केंद्र सरकार ने रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली घरेलू कंपनियों से का है कि वे अपनी वेबसाइट पर रेमडेसिविर इंजेक्शन  के स्टॉक की जानकारी उपलब्ध कराएं साथ ही वितरकों को इंजेक्शन देने की जानकारी भी उपलब्ध कराने की सलाह दी है।

नई दिल्ली, डेस्क रिपोर्ट। बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की मांग भी बढ़ गई है, कुछ राज्यों की इसकी आपूर्ति भी बाधित हो रही है जिसके चलते केंद्र सरकार ने आज रविवार को बड़ा फैसला। सरकार ने फैसला लिया है कि हालात सुधरने तक नियत पर रोक जारी रहेगी।

कोरोना वायरस से रक्षा करने के लिए सबसे कारगर और जीवनरक्षक कहे जाने वाले रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) की देश में कमी ना हो और इसकी आपूर्ति निर्बाध जारी रहे इसलिए रविवार को केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है । सरकार ने फैसला लिया है कि जब देश में हालात सामान्य नहीं हो जाते तब तक रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection)  का निर्यात यानि एक्सपोर्ट नहीं होगा।  केंद्र सरकार ने रेमडेसिविर इंजेक्शन बनाने वाली घरेलू कंपनियों से का है कि वे अपनी वेबसाइट पर रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) के स्टॉक की जानकारी उपलब्ध कराएं साथ ही वितरकों को इंजेक्शन देने की जानकारी भी उपलब्ध कराने की सलाह दी है।

ये भी पढ़ें – नरहरि का बयान, सरकार रेमडेसिवीर इंजेक्शन उपलब्ध कराने में पूरी तरह सक्षम

गौरतलब है कि पिछले कुछ दिनों से कुछ राज्यों से शिकायत आ रही थी कि उनके यहाँ रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection)  की कमी हो रही है यदि केंद्र सरकार इसकी उपलब्धता नहीं होती है तो हालात खराब हो सकते हैं। इसी बीच देश में शनिवार को एक दिन में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1,52,400 पहुँच गई जिसने सरकार की चिंता बढ़ा दी  केंद्र सरकार ने ये कड़ा कदम देश हित में उठाया है।

ये भी पढ़ें – मप्र में 25 फीसदी स्टाफ के साथ सरकारी दफ्तरों में होगा काम, आदेश जारी