सीएम शिवराज बोले- महाराष्ट्र से बसों की आवाजाही बंद रहेगी, स्कूल नही खोले जाएंगे

सीएम शिवराज ने कहा कि उपचार की एक- एक जिले से संपूर्ण सुविधाएं मिले इस पर चर्चा करेंगे। मैन पावर की जरूरत, मृत्यु दर पर नियंत्रण सारी टेस्टिंग लैब की बीमा समीक्षा करूंगा। मैं प्रदेशवासियों से बार-बार अपील कर रहा हूं

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट।  मध्य प्रदेश (madhya pradesh) में कोरोना संक्रमण (crona infection) के दूसरी लहर भयानक बनी हुई है। जहां सीएम शिवराज (cm shivraj) ने मंगलवार मंत्रालय (ministry) में 6:30 बजे शाम से लेकर रात 10:00 बजे तक कोरोना समीक्षा बैठक की थी। उसके बाद आज दोपहर 12:00 बजे एक बार फिर जिला कलेक्टर कमिश्नर (collector- commissioner) और मेडिकल कॉलेज के डीन (Dean) सहित सीएमएचओ (CMH0) से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए चर्चा की जाएगी। जहां आगे की रणनीति पर विचार किया गया। वहीं इस चर्चा में बड़े फैसले लिए जाएंगे।

समीक्षा बैठक में तीन मुद्दों पर विशेष रूप से चर्चा की जाएगी। इससे पहले सीएम शिवराज ने कहा कि मैंने कल ही सभी दलों को खबर करवा दी थी। कोरोना के एक्टिव केस वर्तमान में जो संख्या आ रही है। उसके आधार पर कोरोना की गति बढ़ रही है। हमारी जो रणनीति थी, IITT, आइडेंटीफिकेशन, आइसोलेशन, टेस्टिंग ट्रीटमेंट, आज हम उसको रिव्यू करेंगे। अस्पताल में बिस्तरों की कमी ना रहे यह हमारे सामने चैलेंज है। मैंने कल भी बैठक में यह कहा था सभी रिव्यू करके आएं। हम कितने बिस्तरों की व्यवस्था कर सकते हैं।

सीएम शिवराज ने कहा कि संक्रमित मरीजों के लिए जरूरी मैन पावर, जरूरी व्यवस्थाएं खड़ी करना है। उसकी तैयारी की भी आज मैं समीक्षा करूंगा। संक्रमित के निकटतम लोगों की पहचान संदिग्ध होने पर उन्हें आइसोलेशन व्यवस्था दी जाएगी। अगर किसी का संक्रमण छोटा है तो उसमें आइसोलेट करने से कोई फायदा नहीं। उसके लिए व्यवस्था बनाने पर हम विचार करेंगे। मास्क की सख्ती भी जरूरी है। जन जागरण जिलों में आवश्यक हो रहा है या नहीं इस पर भी में रिव्यू करूंगा और जरूरत पड़ने पर कुछ फैसले भी करूंगा।

Read More: Lockdown को लेकर नरोत्तम मिश्रा का बड़ा बयान, मध्यम मार्ग खोज रही सरकार

शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि संक्रमण बढ़ रहा है। आज भी 2332 के आस पास लोग है। मैं निश्चिंत नहीं बैठ सकता अधिकतम कितने संक्रमण होंगे। उसके आधार पर हम रणनीति बनाएंगे। जहां ज्यादा मामले हैं। वहां टेस्टिंग बढ़ाएंगे 1 अप्रैल से 45 साल से ज्यादा उम्र के सभी भाई-बहन वैक्सीनेशन और टीकाकरण के लिए पात्र हो जाएंगे। जिन जिलों और नगरों में ज्यादा संक्रमण है। वहां टीकाकरण के अभियान को हम युद्ध स्तर पर चलाएंगे और तेजी से टीकाकरण करेंगे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि महाराष्ट्र से लगे जिलों में जो हमने बसे बंद की थी। उस अवधि को हम 30 अप्रैल तक बड़ा रहे है। स्कूल अभी नहीं खोले जाएंगे स्थिति कि हम समीक्षा करेंगे। जिन क्षेत्रों में ज्यादा संक्रमण है। वहां की क्या नीति बनानी चाहिए। उसके बारे में भी चर्चा होगी। होम आइसोलेशन में जो लोग हैं, डिस्ट्रिक्ट (district) को बिट कमांड (bit command) और कंट्रोल सेंटर (control center) उसे ठीक गाइडेंस मिल पाए। इस व्यवस्था को मजबूत और प्रभावी बनाऊंगा।

सीएम शिवराज ने कहा कि उपचार की एक- एक जिले से संपूर्ण सुविधाएं मिले इस पर चर्चा करेंगे। मैन पावर की जरूरत, मृत्यु दर पर नियंत्रण सारी टेस्टिंग लैब की बीमा समीक्षा करूंगा। मैं प्रदेशवासियों से बार-बार अपील कर रहा हूं होली और बाकी त्योहार हमने परंपरा पूरी करते हुए घर में ही बनाएं। रंगपंचमी जैसे त्योहारों पर भी कोई जुलूस और जलसमारोह नहीं होगा क्योंकि यह बहुत घातक हो जायेगा। सभी धर्म गुरुओं से राजनीतिक दल के नेताओं से कार्यकर्ताओं से समाजसेवी संगठनों से मेरी विनम्र अपील है इस महामारी को नियंत्रित करने के लिए सबका साथ मिल रहा है। मैं फिर अपील करता हूं मास्क जरूर लगाएं।